राहुल गांधी ने रोजगार संकट को लेकर चेताया, बोले, 'मैंने पहले जब ऐसा कहा था तो मीडिया ने मजाक..'

उन्‍होंने कहा, 'जब मैंने इस बारे में देश को चेतावनी देते हुए कहा था कि कोविड-19 के चलते देश को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा तो मीडिया ने मेरा मजाक बनाया था.''  

राहुल गांधी ने रोजगार संकट को लेकर चेताया, बोले, 'मैंने पहले जब ऐसा कहा था तो मीडिया ने मजाक..'

राहुल गांधी ने केंद्र सरकार की नीतियों पर निशाना साधा है

नई दिल्‍ली:

कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक बार रोजगार/नौकरी संकट के मुद्दे पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government)पर फिर निशाना साधा है. राहुल गांधी का अनुमान है कि भारत आने वाले दिनों में अपने युवाओं को नौकरी (Job) देने में सक्षम नहीं हो पाएगा. गुरुवार को आयोजित वर्चुअल प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में उन्‍होंने मोदी सरकार की नीतियों पर हमला बोलते हुए कहा कि अगले छह-सात माह में संकट गहराने वाला है. राहुल के अनुसार, उन्‍होंने जब कोरोना वायरस को लेकर इस साल की शुरुआत में इस तरह के अनुमान लगाए थे तो मीडिया ने मजाक बनाया था.''

PM के सिवा हर कोई भारतीय सेना की क्षमता और वीरता में विश्वास करता है : राहुल गांधी

कांग्रेस नेता ने कहा, 'भारत युवाओं को नौकरी देने में सक्षम नहीं हो पाएगा. 70 साल में ऐसा कभी नहीं हुआ कि हमारा देश युवाओं को रोजगार देने में समर्थ नहीं हो पाया हो.' उन्‍होंने कहा, 'जब मैंने इस बारे में देश को चेतावनी देते हुए कहा था कि कोविड-19 के चलते देश को भारी नुकसान उठाना पड़ेगा तो मीडिया ने मेरा मजाक बनाया था. यदि आपको मुझ पर विश्‍वास नहीं है तो मुझे मत सुनिए. आज मैं कह रहा हूं कि हमारा देश नौकरी देने में सक्षम नहीं होगा. यदि आप सहमत नहीं हैं तो छह-सात माह का इंतजार कीजिए.''  

उन्‍होंने इसका कारण बताते हुए कहा, '90 फीसदी रोजगार असंगठित क्षेत्र, छोटे उद्योग और किसानों से है, मोदी सरकार ने इस खत्‍म कर दिया है. आप देख रहे होंगे, एक के बाद एक कंपनियां खस्‍ताहाल हो रही हैं. मारेटोरियल अवधि (moratorium period) खत्‍म होने के बाद MSME भी लगभग तबाह हो जाएंगी.' गौरतलब है कि राहुल इस समय लगातार ट्वीट के जरिये केंद्र सरकार की नीतियों की निशाना साध रहे हैं और सरकारी की नाकामियों को गिना रहे हैं. कांग्रेस नेता ने बुधवार को देश में तेजी से बढ़ रही बेरोजगारी को लेकर ट्वीट (Tweet) किया और लिखा कि फेसबुक पर झूठी खबरें और नफरत फैलाने से बेरोजगारी और अर्थव्‍यवस्‍था के सर्वनाश का सच देश से छुप नहीं सकता. राहुल ने अपने ट्वीट में लिखा था, 'पिछले 4 महीनों में क़रीब 2 करोड़ लोगों ने नौकरियां गंवाईं 2 करोड़ परिवारों का भविष्य अंधकार में है.फेसबुक पर झूठी खबरें और नफ़रत फैलाने से बेरोज़गारी और अर्थव्यवस्था के सर्वनाश का सत्य देश से नहीं छुप सकता.' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

रोजगार को लेकर राहुल गांधी का PM मोदी पर हमला