NDTV Khabar

Pulwama Attack : राहुल गांधी ने कहा-हमारे दिल में चोट पहुंची है, मनमोहन बोले- आतंकवाद से समझौता नहीं

गुरुवार की शाम 3 बजे के करीब सीआरपीएफ के कफिले पर आत्मघाती हमले में 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Pulwama Attack : राहुल गांधी ने कहा-हमारे दिल में चोट पहुंची है, मनमोहन बोले- आतंकवाद से समझौता नहीं

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह की प्रेस कांन्फ्रेंस

खास बातें

  1. हम दुख की घड़ी में जवानों के परिजनों के साथ : राहुल
  2. 'हमारे दिल को चोट पहुंची है'
  3. आतंकवाद से समझौता नहीं : मनमोहन सिंह
नई दिल्ली:

पुलवामा में सीआरपीएफ पर हुए आतंकी हमले  पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि वह सुरक्षा बलों के परिवारों और बच्चों से कहना चाहते हैं कि वे आपके साथ खड़े हैं. राहुल गांधी ने कहा, 'हमारे दिल में चोट पहुंची है. हमारी पूरी शक्ति आपके साथ है. इस घटना पर मैं सरकार को सपोर्ट करता हूं. इस देश को कोई भी शक्ति तोड़ नहीं सकती है. हिंदुस्तान की आत्मा पर हमला हुआ है. उनको मालूम होना चाहिए कि ये देश इन चीजों को भूलता नहीं है. कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यह समय दुख है और इस घड़ी में पूरी तरह से भारत सरकार के साथ हैं और इसके अलावा वह किसी और मुद्दे पर बात नहीं करना चाहते हैं. वहीं प्रेस कांन्फ्रेंस में मौजूद पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा है कि देश ने 40 जवानों को खोया है. हम उन जवानों के परिजनों के साथ हैं. आतंकवादी ऐसी विपत्ति है जिससे कोई समझौता नहीं हो सकता है

पुलवामा हमले पर भड़के कुमार विश्वास, कहा- कंठ में कोई गीला गोला सा अटक रहा है...


आपको बता दें कि गुरुवार की शाम 3 बजे के करीब सीआरपीएफ के कफिले पर आत्मघाती हमले में 40 से ज्यादा जवान शहीद हो गए हैं. घटना के समय 2500 जवानों का एक काफिला जा रहा था तभी विस्फोटकों से भरी एक कार एक वाहन से टकराई और जोरदार धमाका हुआ. इस घटना के बाद पूरे देश में गुस्सा है. शुक्रवार की सुबह सुरक्षा मामलों की कैबिनेट समिति की बैठक में पाकिस्तान सेमोस्ट फेवर्ड नेशन  का दर्ज छीन लिया गया है. इसके बाद पीएम मोदी ने ऐलान करते हुए कहा कि पूरा देश गुस्से में खौल रहा है, और आतंकवादी बड़ी गलती कर चुके हैं उनको इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी. 

Pulwama Terror Attack: 'वाशिंगटन पोस्ट' ने बताया 3 दशक का सबसे भयावह आतंकी हमला

इस हमले की जिम्मेदारी जैश-ए-मोहम्मद ने ली है. जिसका मुखिया मौलाना मसूद अजहर  है. इस आतंकी संगठन का हाथ संसद हमले, पठानकोट जैसे कई बड़े हमलों में रहा है. मसूद अजहर को कंधार विमान अपहरण कांड के समय भारत ने रिहा किया था.

पुलवामा हमले के दोषियों को सख्‍त से सख्‍त सजा मिले : फारूक अब्‍दुल्‍ला​

 

टिप्पणियां

 


 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... 'साहेब' चार बार मुख्यमंत्री रहे, मैं किसी तरह चार मर्तबा डिप्टी सीएम बन पाया: अजित पवार

Advertisement