चीन के डोकलाम में घुसने की सैटेलाइट तस्वीरों को लेकर राहुल गांधी ने केंद्र पर हमला बोला

India-China Doklam Issue : कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी चीन के साथ भारत के रिश्तों, अर्थव्यवस्था और कोरोना को लेकर लगातार केंद्र सरकार पर निशाना साधते रहे हैं.

चीन के डोकलाम में घुसने की सैटेलाइट तस्वीरों को लेकर राहुल गांधी ने केंद्र पर हमला बोला

India-China Issue : कांग्रेस पार्टी के भीतर मचे घमासान के बीच राहुल गांधी का रुख आक्रामक

नई दिल्ली:

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) अर्थव्यवस्था, कोरोना महामारी (Corona Virus) के साथ चीन (China) के साथ रिश्तों को लेकर केंद्र सरकार पर लगातार हमलावर हैं. बिहार विधानसभा चुनाव और उप चुनाव में पार्टी की करारी हार को लेकर पार्टी के भीतर मचे घमासान के बीच राहुल ने एक बार फिर चीन और उससे जुड़े डोकलाम (Doklam) के मुद्दे को उठाया है.

यह भी पढ़ें- पांच सितारा संस्कृति : गुलाम नबी आजाद ने बताई कांग्रेस के चुनाव हारने की वजह

चीन के डोकलाम क्षेत्र में बस्ती और सड़क बनाने से जुड़ी सैटेलाइट तस्वीरों को लेकर राहुल गांधी ने कहा, चीन की भूराजनीतिक रणनीति से सिर्फ लोकलुभावनी तस्वीर पेश करने की मीडिया रणनीति से नहीं निपटा जा सकता. यह सिर्फ केंद्र सरकार को चला रहे लोगों के मनमस्तिष्क को अलग करके दिखाने वाला प्रतीत होता है. डोकलाम पर NDTV की रिपोर्ट को साझा किया, जिसमें सैटेलाइट तस्वीरों (Satellite Images) से पता चलता है कि डोकलाम में चीन का खतरा फिर बढ़ रहा है. सैटेलाइट तस्वीरें दिखाती हैं कि भूटान (Bhutan) की सीमा के दो किलोमीटर भीतर गांव बसाने के अलावा चीन ने उसी क्षेत्र में 9 किलोमीटर अंदर तक सड़क भी बना ली है.

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच लद्दाख में मई महीने से ही गतिरोध बना हुआ है. केरल के वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने ट्विटर के जरिये एक बार फिर चीन से खराब होते रिश्तों को लेकर सरकार पर सवाल उठाए हैं. हालांकि राहुल गांधी का यह बयान कांग्रेस पार्टी के भीतर मचे घमासान के बीच आय़ा है. पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने बिहार चुनाव में करारी हार को लेकर तीखा बयान दिया है. उन्होंने कहा, "पार्टी पांच सितारा होटलों से चुनाव नहीं जीत सकती, जब तक कांग्रेस में कार्य संस्कृति नहीं बदलती, तब तक हम जीत नहीं सकते. "

Newsbeep

आजाद ने यहां तक कहा कि पार्टी का अंदरूनी ढांचा ध्वस्त हो गया है. हमें इस ढांचे का दोबारा निर्माण करना होगा, अगर पार्टी के भीतर कोई नेता निर्वाचित होता है तो यह दोबारा काम कर सकता है. आजाद का यह बयान पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल और पी चिदंबरम के बयानों के बाद आया है. इन दोनों नेताओं ने पार्टी की बदतर हालत को लेकर चिंता जताई थी.

भूटान के 2 किलोमीटर अंदर चीन का कब्जा?

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com