NDTV Khabar

फ्रांस के साथ राफेल लड़ाकू विमान के सौदे में देश को 40,000 करोड़ रुपये का नुकसान : राहुल गांधी

राहुल ने ट्वीट में कहा, "संप्रग ने राफेल के साथ प्रति विमान 526 करोड़ रुपये में तय किए थे. .लेकिन मोदीजी ने प्रति विमान 1,670 करोड़ रुपये का भुगतान किया.

24 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
फ्रांस के साथ राफेल लड़ाकू विमान के सौदे में देश को 40,000 करोड़ रुपये का नुकसान : राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ( फाइल फोटो )

नई दिल्ली:

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि उनकी सरकार के कारण फ्रांस के साथ राफेल लड़ाकू विमान के सौदे में देश को 40,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है.  राहुल ने एक ट्वीट में रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण के उस बयान का उल्लेख किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस की संप्रग सरकार के दौरान जब लड़ाकू विमान नहीं खरीदे गए तो इस समय 'हमारी कीमत' और 'आपकी कीमत' के बारे में बात करने का कोई मतलब नहीं है.  राहुल ने ट्वीट में कहा, "संप्रग ने राफेल के साथ प्रति विमान 526 करोड़ रुपये में तय किए थे. .लेकिन मोदीजी ने प्रति विमान 1,670 करोड़ रुपये का भुगतान किया. इससे 40,000 करोड़ रुपये से ज्यादा का नुकसान हुआ. "

 


इससे पहले दिल्‍ली में कांग्रेस के महाधिवेशन के अंतिम दिन पार्टी अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी और राष्‍ट्रीय स्‍वयंसेवक संघ पर जमकर निशाना साधा था. चाहे मामला भ्रष्‍टाचार का हो या फिर राफेल डील का, या‍ फिर पीएनबी घोटाले का, राहुल ने ने चुन चुनकर हमले किए. कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला करते हुए कहा था  कि मोदी भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई नहीं लड़ रहे हैं, बल्कि वह खुद में भ्रष्टाचार हैं और उनके नीचे देश का नियंत्रण भ्रष्ट व शक्तिशाली लोगों के हाथ में है. राहुल ने कांग्रेस के अधिवेशन को संबोधित करते हुए कहा, "मोदी नाम भारत के सबसे बड़े व्यापारियों व प्रधानमंत्री के बीच सांठ-गांठ का द्योतक है."
 

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement