हमें राहुल गांधी के गले लगा लेने से डर लगता है, क्योंकि उसके बाद हमारी पत्नियां तलाक दे सकती हैं : BJP सांसद

BJP के सांसद निशिकांत दुबे ने कहा कि, 'हां, हमें राहुल गांधी के लगे लगा लेने से डर लगता है, क्योंकि उसके बाद हमारी पत्नियां हमें तलाक दे सकती हैं.

हमें राहुल गांधी के गले लगा लेने से डर लगता है, क्योंकि उसके बाद हमारी पत्नियां तलाक दे सकती हैं : BJP सांसद

पीएम मोदी से गले मिलते राहुल गांधी (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संसद में गले मिलने को लेकर भाजपा पर निशाना साधते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि अब भगवा पार्टी के सांसद उन्हें देखते ही दो कदम पीछे हो जाते हैं कि कहीं वह उन्हें भी गले ना लगा लें. उनके इस बयान के बाद बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने इस पर प्रतिक्रिया दी है. 
 


BJP के सांसद निशिकांत दुबे ने कहा कि, 'हां, हमें राहुल गांधी के लगे लगा लेने से डर लगता है, क्योंकि उसके बाद हमारी पत्नियां हमें तलाक दे सकती हैं... और वैसे भी, अभी धारा 377 भी रद्द नहीं हुई है. यदि वह (राहुल गांधी) शादी कर लेते हैं, तो हम उन्हें गले लगा लेंगे...' बता दें कि संसद में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान अपने भाषण के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से गले मिलने को लेकर भाजपा के नेता राहुल गांधी की लगातार आलोचना कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें : आजकल BJP वाले डरते हैं कहीं मैं उन्हें गले ना लगा लूं : राहुल गांधी

राहुल ने कहा था कि सत्तारूढ़ दल के नेताओं के साथ उनके मतभेद हैं और वह उनसे लड़ सकते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वह उनसे नफरत करें. राहुल गांधी ने एक किताब के विमोचन के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में कहा था, 'आप पूरी शक्ति के साथ किसी से लड़ सकते हैं, लेकिन नफरत करने की बात आप पर निर्भर करती है. मेरे ख्याल से इसे समझना बहुत जरूरी है. आडवाणी (लालकृष्ण आडवाणी) से मेरे विचार अलग हो सकते हैं, देश को लेकर उनकी और मेरी राय बिल्कुल जुदा हो सकती है. मैं हर कदम पर उनसे लड़ सकता हूं, लेकिन यह जरूरी नहीं है कि मैं उनसे नफरत करूं.' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: ... जब सदन में पीएम मोदी से गले मिल राहुल गांधी ने दी 'जादू की झप्पी'

उधर, राहुल गांधी के करीबी सूत्रों ने कहा कि पीएम मोदी को गले लगाने का आइडिया करीब तीन-चार महीने पहले राहुल गांधी को आया, जब वह पीएम मोदी को गांधी परिवार, मां सोनिया गांधी की आलोचना करते सुने थे. यही वजह है कि पीएम मोदी के इस क्रोध, आलोचना और घृणा को काउंटर करने के लिए राहुल ने यह तरीका अपनाया. राहुल गांधी ने सोचा कि सार्वजनिक तौर पर प्यार का प्रदर्शन करना ही पीएम का बेहतर काउंटर होगा.