NDTV Khabar

कर्नाटक की रैली में 'विश्‍वेश्‍वरैया' का नाम सही से नहीं ले पाए राहुल गांधी, इस सांसद ने ली चुटकी

अब कर्नाटक में चुनाव होने हैं और पार्टी अध्यक्ष राज्य के दौरे पर हैं. कई चुनावी रैलियों को संबोधित कर रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कर्नाटक की रैली में 'विश्‍वेश्‍वरैया' का नाम सही से नहीं ले पाए राहुल गांधी, इस सांसद ने ली चुटकी

सांसद राजीव चंद्रशेखर.

खास बातें

  1. कर्नाटक में राहुल गांधी कर रहे थे रैली
  2. रैली को संबोधित करते समय नाम लेने में आई दिक्कत
  3. कर्नाटक में जल्द होने वाले हैं चुनाव.
नई दिल्ली:

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी गुजरात चुनावों में एक अलग अंदाज में नजर आए. उन्होंने यहां पर काफी मेहनत की और पार्टी की स्थिति में काफी सुधार देखा गया. यह अलग बात है कि चुनावी परिणामों में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी को सत्ता तक पहुंचाने में कामयाब तो नहीं हुए लेकिन जो परिणाम आया उससे पार्टी काफी उत्साहित दिखी. अब कर्नाटक में चुनाव होने हैं और पार्टी अध्यक्ष राज्य के दौरे पर हैं. कई चुनावी रैलियों को संबोधित कर रहे हैं. ऐसे में उन्होंने हाल ही में एक चुनावी रैली को संबोधित किया था. इस रैली में उन्होंने एम विश्वेश्वरैया का नाम लिया. सोशल मीडिया पर जारी एक वीडियो में जब राहुल गांधी उनका नाम ले रहे हैं तब वे थोड़ा से लड़खड़ा गए. इस पर कुछ लोगों ने राहुल गांधी का मजाक उड़ाया.

टिप्पणियां

राहुल गांधी का मजाक उड़ाने वालों में राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर भी शामिल हैं. उन्होंने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का एक वीडियो ट्वीट किया जिसमें वह महान भारतीय अभियंता, विद्वान और राजनेता सर एम विश्‍वेश्‍वरैया का नाम आसानी से लेते नहीं दिख रहे हैं. करीब 8 सेकेंड के इस वीडियो में राहुल गांधी विश्‍वेश्‍वरैया का नाम लेते हुए अटकते हुए दिखाई दे रहे हैं और बाद में जो उच्चारण करते हैं वह भी गलत जान पड़ता है. इसी वीडियो को शेयर करते हुए राजीव चंद्रशेखर ने राहुल गांधी की चुटकी लेते हुए ट्वीट में लिखा- 'तो पांच साल की भ्रष्ट सरकार के नेता अब नव कर्नाटक के निर्माण का दावा करने वाले कर्नाटक के महान बेटे और भारत रत्न सर एम विश्‍वेश्‍वरैया को नहीं जानते हैं.' 
 


राहुल गांधी इसी यात्रा के दौरान रविवार (25 मार्च) को मैसूर में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे. एम विश्‍वेश्‍वरैया का जन्म भी कर्नाटक में हुआ था और वह ब्रिटिश साम्राज्य के दौरान 1912 से लेकर 1918 तक मैसूर के दीवान रहे थे. भारत में 15 सितंबर को हर वर्ष अभियंता दिवस (इंजीनियर्स डे) उन्हीं के जन्म दिवस की याद में मनाया जाता है. इसलिए मैसूर में जनता को संबोधित करते हुए राहुल गांधी वहां की महान विभूतियों के बारे में बता रहे थे, तभी वह विश्‍वेश्‍वरैया का नाम सही से नहीं ले पाए.

कर्नाटक विधानसभा चुनाव नजदीक हैं. आज तारीखों का ऐलान चुनाव आयोग कर सकता है. राज्य में अप्रैल-मई में चुनाव होने की संभावना है. लिहाजा पक्ष-विपक्ष के नेताओं ने वोटरों को लुभाने के लिए पूरी तरह से कमर कस ली है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement