तरुण गोगोई मेरे गुरु थे, यह मेरे लिए निजी क्षति : राहुल गांधी

राहुल ने कहा, “गोगोई जी केवल असम के नेता नहीं थे, वे राष्‍ट्रीय नेता थे. वह बेहतरीन मुख्यमंत्री थे. उन्होंने असम के लोगों को एक करने और राज्य में शांति स्थापित करने का काम किया था.”

तरुण गोगोई मेरे गुरु थे, यह मेरे लिए निजी क्षति : राहुल गांधी

श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए राहुल गांधी

खास बातें

  • राहुल बोले, मैंने गोगोई जी के साथ कई घंटे बिताए हैं
  • उन्होंने मुझे बताया, असम और यहां के लोगों का महत्व क्या है
  • वे एक बेहतरीन मुख्यमंत्री और राष्‍ट्रीय स्तर के नेता थे
गुवाहाटी :

'वे मेरे गुरु थे, मेरे टीचर थे....' कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने असम के पूर्व मुख्‍यमंत्री तरुण गोगोई (Tarun Gogoi) को श्रद्धांजलि देते हुए बुधवार को यह विचार व्‍यक्‍त किए. गोगोई का सोमवार को 86 वर्ष की उम्र में निधन हो गया था. राहुल गांधी ने तरुण गोगोई को याद करते हुए कहा, 'उन्‍होंने असम और देश की सेवा की. मैंने गोगोई जी के साथ कई घंटे बिताए हैं. वह मेरे शिक्षक, मेरे गुरु थे. उन्होंने मुझे समझाया कि असम और यहां के लोगों का महत्व क्या है. उन्होंने असम की सुंदरता से मेरा परिचय कराया.' इस मौके पर तरुण गोगोई के बेटे गौरव गोगाई भी राहुल के साथ थे.

तरुण गोगोई के पुत्र गौरव ने कहा, पिता की मुस्कान और लोगों के प्रति उनकी प्रतिबद्धता याद रहेगी

राहुल ने कहा, 'उन्‍होंने मुझे हमेशा पुत्र की तरह समझा और व्‍यवहार किया.उनका जाना मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति है.' राहुल गोवा से विशेष विमान से गुवाहाटी आने के बाद सीधे श्रीमंत शंकरदेव कलाक्षेत्र पहुंचे जहां गोगोई के पार्थिव शरीर को जनता के अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है. वे स्‍वर्गीय गोगोइ की पत्‍नी डॉली और पुत्र गौरव से भी भेंट की. गौरव असम से लोकसभा सांसद हैं.

राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री और राहुल गांधी ने असम के पूर्व सीएम तरुण गोगोई के निधन पर जताया शोक

संवाददाताओं से बातचीत में राहुल गांधी ने कहा, “गोगोई जी केवल असम के नेता नहीं थे, वे राष्‍ट्रीय नेता थे. वह बेहतरीन मुख्यमंत्री और राष्ट्र्रीय स्तर के नेता थे. उन्होंने असम के लोगों को एक करने और राज्य में शांति स्थापित करने का काम किया था.” गौरतलब है कि असम के पूर्व सीएम तरुण गोगाई कोविड-19 के बाद की परेशानियों के चलते अस्‍पताल में भर्ती थे. बाद में 23 नवंबर को उनका निधन हो गया था. उनके निधन पर असम में तीन दिन के शोक की घोषणा की गई है.(एजेंसी से भी इनपुट)

Newsbeep

तरुण गोगोई का अंतिम संस्कार बृहस्पतिवार को होगा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com