NDTV Khabar

राहुल गांधी की पीएम मोदी को चुनौती : मुझ पर लगाए गए आरोप साबित करके दिखाएं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राहुल गांधी की पीएम मोदी को चुनौती : मुझ पर लगाए गए आरोप साबित करके दिखाएं

युवा कांग्रेस के सम्मेलन में राहुल गांधी...

नई दिल्ली:

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने उन पर लगाए जाते रहे विभिन्न आरोपों पर पहली बार चुप्पी तोड़ते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती दी कि वह उन मामलों की जांच करवाएं और आरोप साबित करके दिखाएं।

परिवार पर कीचड़ उछालना बंद करें
पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 98वीं जयंती के अवसर पर आयोजित एक समारोह में राहुल ने कहा, 'बीजेपी और आरएसएस हमेशा से मेरे परिवार, मेरी दादी, मेरे पिता और मां पर आरोप लगाते रहे हैं... मैं यह सब तब से देखता आ रहा हूं, जब मैं बच्चा था... मैं कहना चाहता हूं, मोदी जी, यह आपकी सरकार है... सभी एजेंसियां आपके पास हैं... उन्हें मेरे पीछे लगा दीजिए... जांच बिठाइए, और अगर छह महीने के भीतर कुछ भी मिल जाए, तो मुझे जेल में डाल दीजिए... लेकिन तब तक अपने लोगों से कहिए, मेरे परिवार पर कीचड़ उछालना बंद करें...'

गौरतलब है कि इसी हफ्ते बीजेपी के सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कुछ दस्तावेज़ जारी किए थे, जिनके मुताबिक राहुल गांधी ने इंग्लैंड में कंपनी स्थापित करने के उद्देश्य से कंपनी कानून अधिकारियों के समक्ष यह दावा किया था कि वह ब्रिटिश नागरिक हैं। सुब्रह्मण्यम स्वामी ने इस सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन को खत भी लिखा था, जिसमें राहुल की भारतीय नागरिकता तथा लोकसभा की सदस्यता छीन लेने की मांग की गई थी।


बीजेपी ने किया पलटवार
उधर, कुछ ही देर में बीजेपी ने भी पलटवार करते हुए कांग्रेस के खिलाफ विभिन्न घोटालों और अनियमितताओं से जुड़े आरोपों को दोहराया। वरिष्ठ बीजेपी नेता शाहनवाज़ हुसैन ने कहा, 'उन्हें हमें चुनौती नहीं देनी चाहिए... मनमोहन सिंह हमारी अर्थव्यवस्था को 2जी, कोलगेट और सीडब्ल्यूजी घोटालों की दिशा में लेकर गए थे... रॉबर्ट वाड्रा के खिलाफ भी कई जांच चल रही हैं...'

आरएसएस को लेकर राहुल के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए शाहनवाज़ हुसैन ने कहा, 'अगर राहुल गांधी पर आरएसएस की छाया भी पड़ गई होती, तो वह गौरवान्वित महसूस करते... नेहरू जी, राजीव जी को आरएसएस के बारे में सब पता था, क्योंकि आरएसएस ने ही उनकी गलतियां उजागर की थीं... राहुल गांधी को पहले उनके कामों के बारे में पढ़ना चाहिए...'

टिप्पणियां

RSS की तुलना प्रतिबंधित संगठन 'सिमी'
वैसे, कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने समारोह में आरएसएस की तुलना प्रतिबंधित संगठन सिमी से की थी और कहा था कि पीएम मोदी और आरएसएस के लोग दादागीरी करते हैं। उन्होंने कहा कि हमारी विचारधारा आरएसएस और पीएम मोदी से अलग है। पीएम मोदी और आरएसएस को निशाने पर लेते हुए राहुल गांधी ने कहा कि हमारा काम तोड़ने का नहीं, जोड़ने का है।

कांग्रेस का काम लोगों को जोड़ना
राहुल गांधी ने अपनी दादी को याद करते हुए कहा कि इंदिरा गांधी में हिंसा के खिलाफ खड़े होने का हौसला था। जब 1947 में हिन्दू-मुस्लिम दंगे हुए थे, तब इंदिरा गांधी मदद के लिए खड़ी हुई थीं। दंगे कुछ लोगों द्वारा किए जाते हैं, लेकिन हमारा काम लोगों को जोड़ने का है। इंदिरा गांधी की यही विचारधारा थी। एक बार इंदिरा गांधी ने देखा कि कुछ लोग एक कमजोर आदमी को मार रहे थे, उन्होंने आदमियों से कहा कि उसे छोड़ दो। हिम्मत वाले हो, तो मुझे मारो। उसके बाद वे लोग चुप हो गए, एक अंगुली भी नहीं उठा पाए... न इंदिरा गांधी पर, न उस आदमी पर।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement