NDTV Khabar

मंदसौर पर बढ़ी सियासत : राहुल गांधी करेंगे आंदोलनकारियों से मुलाकात

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को मंदसौर जाएंगे और आंदोलन कर रहे किसानों से बातचीत करेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. मध्य प्रदेश सरकार ने हिंसा और तनाव के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया
  2. कांग्रेस ने कहा- विफलता छुपाने के लिए हम पर आरोप लगा रही है बीजेपी
  3. राहुल को समझना चाहिए कि उनके दौरे से तनाव बढ़ेगा : नरेंद्र सिंह तोमर
नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में मंदसौर और दूसरे कई ज़िलों में किसानों का आंदोलन उग्र होता जा रहा है. हिंसक घटनाएं बढ़ रही हैं. इस बीच अब खबर है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी गुरुवार को मंदसौर जाएंगे और आंदोलन कर रहे किसानों से बातचीत करेंगे. बीजेपी ने राहुल को वहां न जाने की नसीहत दी है.

केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने दिल्ली में कहा कि राहुल गांधी को समझना चाहिये कि उनके मंदसौर जाने से तनाव बढ़ेगा और इसलिए उन्हें इज़ाज़त नहीं दी गई है. तोमर ने ये भी दावा किया कि असामाजिक तत्व भी लोगों को भड़का रहे हैं. उधर मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में बढ़ती हिंसा और तनाव के लिए कांग्रेस को ज़िम्मेदार ठहराया है. बीजेपी का आरोप है कि कांग्रेस राजनीतिक वजहों से किसानों को भड़का रही है.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस ने आंदोलन में हिंसा भड़काने का सुनियोजित प्रयास किया था, लेकिन कांग्रेस नेता कमल नाथ ने पलटवार करते हुए कहा कि जब भी बीजेपी किसी मोर्चे पर विफल होती है, तो वो उसके लिए कांग्रेस को ही ज़िम्मेवार ठहरा देती है. उन्होंने कहा कि देश में हज़ारों किसान आत्महत्या कर रहे हैं और सरकार की नीतियों की वजह से पूरे देश में उनकी बदहाली बढ़ती जा रही है.

टिप्पणियां
बुधवार को मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन के दौरान हुई पुलिस फायरिंग और किसानों की मांगों के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वरिष्ठ कैबिनेट मंत्रियों के साथ बैठक की और हालात की समीक्षा की. उधर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बुधवार को ट्वीट कर कहा, 'मैं किसानों से अपील करता हूं कि शांति बनाए रखें. मैं हमेशा आप लोगों से बातचीत के लिए उपलब्ध हूं. कृपया अफ़वाहों पर ध्यान न दें.'

मंदसौर और दूसरे इलाकों में बढ़ती हिंसा और तनाव के बीच अब ये महत्वपूर्ण हो गया है कि हालात पर काबू पाने के लिए बड़े स्तर पर जल्दी राजनीतिक पहल शुरू की जाए और पार्टियां इस मसले पर राजनीति करने से बचें.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement