सरकार के खिलाफ राहुल गांधी का ट्वीट, 'कहा था किसान की आय दुगनी होगी, लेकिन ‘मित्रों’ की आय हुई चौगुनी..'

किसानों के प्रदर्शन से जुड़ा एक वीडियो साझा करते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘‘ कहा गया था कि किसान की आय दुगनी होगी. लेकिन ‘मित्रों’ की आय हुई चौगुनी और किसान की हो गई आधी.’’

सरकार के खिलाफ राहुल गांधी का ट्वीट, 'कहा था किसान की आय दुगनी होगी, लेकिन ‘मित्रों’ की आय हुई चौगुनी..'

राहुल गांधी ने कहा, मोदी सरकार किसानों को जुमले देना बंद करे

खास बातें

  • कहा, किसानों को जुमले देना बंद करे सरकार
  • किसान की आय हो गई है आधी
  • तीनों काले कानूनों को खत्‍म किया जाए
नई दिल्ली:

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने तीन केंद्रीय कृषि कानूनों (Farm Law) के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन की पृष्ठभूमि में बुधवार को केंद्र सरकार (Central Government) पर निशाना साधा और कहा कि सरकार ‘बातचीत का ढकोसला' बंद कर इन ‘काले कानूनों' को खत्म करे. उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि किसानों की आय आधी हो गई, लेकिन सरकार के ‘मित्रों' की आय चौगुनी हो गई. कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया, ‘‘मोदी सरकार, किसानों को जुमले देना बंद करें. बेईमानी अत्याचार बंद करें. बातचीत का ढकोसला बंद करें. किसान-मज़दूर विरोधी तीनों काले क़ानून ख़त्म करें.''

केजरीवल का सवाल- जब केंद्र की कमेटी में अमरिंदर सिंह थे तो कृषि बिल का विरोध क्यों नहीं किया?

'हम भारी भुखमरी की राह पर हैं' : किसानों के प्रदर्शन के बीच बोले नवजोत सिंह सिद्धू

उन्होंने किसानों के प्रदर्शन से जुड़ा एक वीडियो साझा करते हुए कहा, ‘‘ कहा गया था कि किसान की आय दुगनी होगी. लेकिन ‘मित्रों' की आय हुई चौगुनी और किसान की हो गई आधी.'' राहुल गांधी ने आरोप लगाया, ‘‘यह झूठ की, लूट की, सूट-बूट की सरकार है.'' उल्लेखनीय है कि नए केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे 35 किसान संगठनों की चिंताओं पर गौर करने के लिए एक समिति गठित करने के सरकार के प्रस्ताव को मंगलवार को किसान प्रतिनिधियों ने ठुकरा दिया. सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों और अधिकारियों के साथ मंगलवार को हुई उनकी लंबी बैठक बेनतीजा रही. इन कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर बड़ी संख्या में किसान दिल्ली के निकट पिछले एक सप्ताह से प्रदर्शन कर रहे हैं.

Newsbeep

केंद्र सरकार के चार नुमाइंदों की समिति के प्रस्ताव को ठुकराया : किसान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)