NDTV Khabar

विपक्ष को एक मंच पर लाने की ममता की कोशिशों को राहुल का साथ, BJP के 'ताबूत में आखिरी कील' साबित करने की कोशिश

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक बार फिर से विपक्षी एकता की झलक देखने को मिल सकती है. 19 जनवरी को कोलकाता में ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) रैली को अब राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का भी साथ मिल गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. कोलकाता में ममता बनर्जी की रैली को राहुल गांधी का समर्थन.
  2. ममता आगामी 19 जनवरी को कोलकाता में विशाल रैली को संबोधित करने वाली हैं.
  3. करीब 20 से अधिक पार्टियों के नेता शिरकत करेंगे.
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) से ठीक पहले पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में एक बार फिर से विपक्षी एकता की झलक देखने को मिल सकती है. 19 जनवरी को कोलकाता में ममता बनर्जी की रैली को अब राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का भी साथ मिल गया है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को पत्र लिख कर समर्थन की बात कही है. बता दें कि ममता आगामी 19 जनवरी को कोलकाता में विशाल रैली को संबोधित करने वाली हैं. माना जा रहा है कि आगामी लोकसभा चुनाव में ममता बनर्जी की यह रैली निर्णायक भूमिका निभाएगी. दरअसल, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ममता बनर्जी की रैली से एक दिन पहले समर्थन में चिट्ठी लिखी है. पत्र में कहा गया है कि पूरा विपक्ष एकजुट है. मैं एकता के इस शो पर ममता

चुनाव के बाद ममता बनर्जी पीएम बनेंगीं? शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा, वे राष्ट्रीय नेता


तृणमूल कांग्रेस की विपक्ष की रैली से एक दिन पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने विपक्षी एकजुटता के ममता बनर्जी के प्रयास का समर्थन करते हुए शुक्रवार को उम्मीद जताई कि इस रैली से एकजुट भारत का शक्तिशाली सन्देश जाएगा.  उन्होंने यह भी कहा कि पूरा विपक्ष इस विश्वास के प्रति एकजुट है कि सच्चे राष्ट्रवाद और विकास की रक्षा लोकतंत्र, सामाजिक न्याय और धर्मनिरपेक्षता जैसे उन मूल्यों के आधार पर करनी है जिनको नरेंद्र मोदी सरकार नष्ट कर रही है. 

कसभा चुनाव से पहले ममता बनर्जी को झटका, TMC सांसद सौमित्र खान ने थामा भाजपा का दामन

उन्होंने ममता को भेजे सन्देश में कहा, '' हम बंगाल के लोगों की सराहना करते हैं जो ऐतिहासिक रूप से हमारे इन मूल्यों की रक्षा करने में आगे रहे हैं.'' उन्होंने कहा, ''मैं यह एकजुटता दिखाने पर ममता दी का समर्थन करता हूं और आशा करता हूं कि हम एकजुट भारत का शक्तिशाली सन्देश देंगे. गौरतलब है कि शनिवार को कोलकाता में ममता ने विपक्ष की रैली का आयोजन किया है जिसमें कांग्रेस की ओर से मल्लिकार्जुन खड़गे भाग लेंगे. 

बता दें कि ममता ने कहा था कि यह रैली लोकसभा चुनावों में भाजपा के लिए 'ताबूत में आखिरी कील' साबित होगी और चुनावों में क्षेत्रीय दल निर्णायक की भूमिका में होंगे.

पश्चिम बंगाल में BJP की रथयात्रा को मंजूरी देने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, कही यह बात...

इससे पहले शनिवार को कोलकाता में होने वाली ‘संयुक्त विपक्षी रैली' के लिये तैयार है. तृणमूल प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि यह रैली लोकसभा चुनावों से पहले भाजपा के लिये ‘मृत्यु-नाद' की मुनादी होगी. भगवा पार्टी के ‘कुशासन' के खिलाफ संयुक्त लड़ाई का संकल्प जताने के लिये कोलकाता के प्रतिष्ठित ब्रिगेड परेड मैदान में शनिवार को होने वाली इस रैली में 20 से अधिक विपक्षी दलों के शिरकत करने की संभावना है. तृणमूल को उम्मीद है कि इस रैली से ममता ऐसे नेता के तौर कर उभरकर सामने आयेंगी जो ‘अन्य दलों को साथ लेकर'चल सकती हैं और आम चुनावों के बाद सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को चुनौती दे सकती हैं. विशाल विपक्षी रैली का आयोजन बनर्जी की सोच का नतीजा है. उन्होंने बृहस्पतिवार को कहा था कि लोकसभा चुनावों में क्षेत्रीय पार्टियां निर्णायक कारक साबित होंगी. 

उन्होंने कहा, ‘भाजपा के कुशासन के खिलाफ यह ‘‘संयुक्त भारत रैली'' होगी. यह भाजपा के लिये मृत्युनाद की मुनादी होगी... आम चुनाव में भगवा पार्टी 125 से अधिक सीटें नहीं जीत पायेगी. राज्य की पार्टियों द्वारा जीती गयी सीटों की संख्या भाजपा की तुलना में अधिक होगी.' उन्होंने दावा किया, ‘संघीय पार्टियां यानी क्षेत्रीय पार्टियां चुनावों के बाद निर्णायक कारक साबित होंगी.'    

बंगाल BJP चीफ ने पहले ममता बनर्जी को बताया 'फिट PM' उम्मीदवार, अब लिया यूटर्न

टिप्पणियां

विशाल रैली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, एच डी कुमारस्वामी, एन. चंद्रबाबू नायडू, पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवगौड़ा, पूर्व मुख्यमंत्री फारुक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और अखिलेश यादव, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव, द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के एम के स्टालिन के अलावा भाजपा के असंतुष्ट सांसद शत्रुघ्न सिन्हा शामिल होने वाले हैं. लोकसभा में विपक्ष के नेता एवं कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और पार्टी नेता अभिषेक मनु सिंघवी भी रैली में हिस्सा लेंगे. बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) प्रमुख शरद पवार, राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) के अजित सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी, पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, दलित नेता जिग्नेश मेवाणी और झारखंड विकास मोर्चा के बाबूलाल मरांडी भी तृणमूल प्रमुख के साथ मंच साझा करते दिखेंगे. अरुणाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री जेगांग अपांग भी इस रैली में शामिल होंगे. जेगांग ने मंगलवार को ही भाजपा छोड़ा. 

VIDEO: ममता सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement