राहुल गांधी ने 29वीं पुण्‍यतिथि पर पिता राजीव गांधी को दी श्रद्धांजलि, कहा-सच्‍चे देशभक्‍त का पुत्र होने पर गर्व है..

अपने ट्वीट में राहुल ने लिखा, 'एक सच्चे देशभक्त, उदार और परोपकारी पिता के पुत्र होने पर मुझे गर्व है. प्रधानमंत्री के रूप में राजीव जी ने देश को प्रगति के पथ पर अग्रसर किया. अपनी दूरंदेशी से देश के सशक्तीकरण के लिए उन्होंने ज़रूरी कदम उठाए.'

राहुल गांधी ने 29वीं पुण्‍यतिथि पर पिता राजीव गांधी को दी श्रद्धांजलि, कहा-सच्‍चे देशभक्‍त का पुत्र होने पर गर्व है..

पिता राजीव गांधी की पुण्‍यतिथि पर बेटे राहुल गांधी ने ट्वीट करने उन्‍हें श्रद्धासुमन अर्पित किए हैं

नई दिल्ली:

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की 29वी पुण्‍यतिथि कांग्रेस पार्टी सहित देश ने उन्‍हें याद कर श्रद्धासुमन अर्पित किए. स्‍वर्गीय राजीव गांधी के बेटे राहुल गांधी ने अपने पिता को नमन करते हुए भावुक ट्वीट किया. अपने ट्वीट में राहुल (Rahul Gandhi) ने हिंदी में लिखा, 'एक सच्चे देशभक्त, उदार और परोपकारी पिता के पुत्र होने पर मुझे गर्व है. प्रधानमंत्री के रूप में राजीव जी ने देश को प्रगति के पथ पर अग्रसर किया. अपनी दूरंदेशी से देश के सशक्तीकरण के लिए उन्होंने ज़रूरी कदम उठाए. आज उनकी पुण्यतिथि पर मैं स्नेह और कृतज्ञता से उन्हें सादर नमन करता हूं.'

राजीव गांधी की पार्टी, कांग्रेस ने भी आज सुबह ट्विटर पर उनका एक छोटा वीडियो शेयर किया. इस वीडियो में कहा गया है, "राहुल गांधी- वह व्यक्ति, जिन्‍होंने युवा भारत की नब्ज को पहचाना और हमें एक उज्जवल भविष्य की ओर अग्रसर किया. वह व्यक्ति जो युवाओं और बुजुर्गों की जरूरतों को समझता था और जिसे सभी का प्‍यार मिला."

एक अन्‍य ट्वीट में कहा गया है कि राजीव गांधी ने महिलाओं के सशक्‍तीकरण और अधिक समान समाज की वकालत करने के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया. पीएम नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट करके पूर्व प्रधानमंत्री राहुल गांधी को श्रद्धासुमन अर्पित किए हैं.

कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने राजीव गांधी को एक दूरदर्शी और हर किसी का ध्‍यान रखने वाले और एक दयालु इंसान के रूप में याद किया. उन्‍होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'भारत के सबसे युवा पीएम राजीव गांधी बेहद दूरदर्शी थे. उन्होंने सभी भारतीयों के लिए एक उज्जवल भविष्य की कल्पना की और इस दिशा में काम किया." गौरतलब है कि राजीव गांधी ने 1984 में अपनी मां और तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद देश की बागडोर संभाली थी. वह 40 साल की उम्र में भारत के सबसे युवा प्रधानमंत्री बने थे. वर्ष 1991 में तमिलनाडु के श्रीपेरंबुदूर में एक चुनाव अभियान के दौरान एक आत्मघाती हमलावर द्वारा बम विस्‍फोट कर राजीव गांधी की नृशंस हत्‍या कर दी गई थी. उनकी पुण्यतिथि को आतंकवाद विरोधी दिवस के रूप में भी मनाया जाता है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: प्रवासी मजदूरों के लिए बसों पर राजनीति, सीएम योगी और प्रियंका गांधी आमने-सामने