हरियाणा बॉर्डर पर ट्रैक्टर रैली रोके जाने से नाराज राहुल धरने पर बैठे

कृषि कानून के खिलाफ पंजाब में तीन दिन तक बिगुल फूंकने के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार शाम को हरियाणा की ओर कूच किया. लेकिन राहुल गांधी की 'ट्रैक्टर रैली' को हरियाणा पुलिस ने बॉर्डर पर ही रोक दिया. इससे नाराज राहुल गांधी अन्य नेता व कार्यकर्ताओं के साथ वहीं धरने पर बैठ गए.

हरियाणा बॉर्डर पर ट्रैक्टर रैली रोके जाने से नाराज राहुल धरने पर बैठे

पंजाब में तीन दिन की खेती बचाओ यात्रा के बाद राहुल गांधी की ट्रैक्टर रैली हरियाणा की ओर बढ़ी

चंडीगढ़:

कृषि कानून के खिलाफ पंजाब में तीन दिन तक बिगुल फूंकने के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार शाम को हरियाणा की ओर कूच किया. लेकिन राहुल गांधी की 'ट्रैक्टर रैली' को हरियाणा पुलिस ने बॉर्डर पर ही रोक दिया. इससे नाराज राहुल गांधी अन्य नेता व कार्यकर्ताओं के साथ वहीं धरने पर बैठ गए.

राहुल गांधी के साथ वहां हजारों कार्यकर्ता का हुजूम भी जमा है, जो हरियाणा में प्रवेश की मांग को लेकर वहां नारेबाजी कर रहा है. हालांकि इस दौरान बिना मास्क पहने भीड़ के बीच सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती नजर आईं. बैरीकेडिंग को हटाने को लेकर कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच जोर आजमाइश भी देखी गई.

<blockquote class="twitter-tweet"><p lang="en" dir="ltr">They have stopped us on a bridge on the Haryana border. I'm not moving and am happy to wait here. <br><br>1 hour, 5 hours, 24 hours, 100 hours, 1000 hours or 5000 hours. <a href="https://t.co/b9IjBSe7Bg">pic.twitter.com/b9IjBSe7Bg</a></p>&mdash; Rahul Gandhi (@RahulGandhi) <a href="https://twitter.com/RahulGandhi/status/1313438575019487234?ref_src=twsrc%5Etfw">October 6, 2020</a></blockquote> <script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js" charset="utf-8"></script>

Newsbeep

राहुल गांधी ने खुद ट्वीट कर कहा, 'हरियाणा के बॉर्डर पर पुलिस ने रोक रखा है, जब तक यह खुलेगा नहीं मैं यहां बैठा हूं. दो घंटे या 6 घंटे, 24 घंटे या 100, 1000-5000 घंटे लगे, मैं यहां से नहीं हिल रहा. जब ये खोलेंगे प्यार से तो मैं प्यार से चला जाऊंगा. तब तक मैं यहां बैठा हूं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


गौरतलब है कि राहुल गांधी का यह आक्रामक तेवर हाथरस मामले में भी दिखा था, जब पीड़िता के परिवार से मिलने की इजाजत न मिलने के लिए उन्होंने लगातार प्रयास किए थे. DND फ्लाईओवर पर सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ डटे राहुल गांधी की मांग को आखिरकार यूपी प्रशासन ने माना था. राहुल और प्रियंका समेत पांच नेताओं को पीड़िता के परिवार से मिलने की इजाजत दी गई थी