NDTV Khabar

20 फीसदी से ज्यादा राजधानी और शताब्दी गाड़ियां देरी से चल रही हैं: रेल राज्यमंत्री

शताब्दी और राजधानी रेलगाड़ियों को अपने साफ सफाई और समय पर चलने के लिए जाना जाता है, लेकिन अब यह गाड़ियां भी लेट चलने लगी हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
20 फीसदी से ज्यादा राजधानी और शताब्दी गाड़ियां देरी से चल रही हैं: रेल राज्यमंत्री

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: शताब्दी और राजधानी रेलगाड़ियों को अपने साफ सफाई और समय पर चलने के लिए जाना जाता है, लेकिन अब यह गाड़ियां भी लेट चलने लगी हैं. यह बात हम नहीं बल्कि देश के रेल राज्यमंत्री ने शुक्रवार को संसद में कही. रेल राज्यमंत्री राजन गोहेन ने शुक्रवार को राज्यसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में बताया कि शताब्दी और राजधानी एक्सप्रेस रेलगाड़ियां अपने निर्धारित समय से क्रमश: 30 और 22 प्रतिशत देरी से चल रही हैं. 

यह भी पढ़ें:  रेलवे में तत्काल टिकट बुक करने के लिए क्या है नियम, पढ़ें 8 प्वाइंट में पूरी जानकारी

टिप्पणियां
उन्होंने बताया कि अप्रैल से जून के बीच व्यापक पैमाने पर रेलमार्गों के रखरखाव का काम चल रहा था, जिसके कारण रेलगाड़ियों का समय से परिचालन प्रभावित हुआ है. गोहेन ने बताया कि अप्रैल से जून 2018 के दौरान रेलमार्ग के रखरखाव का काम 46056 घंटे तक चला. यह पिछले साल की तुलना में 11.89 प्रतिशत अधिक था. उन्होंने बताया कि लेट से चल रही रेलगाड़ियों का समय से परिचालन सुनिश्चित करने के लिए मंत्रालय के कर्मचारियों को इस बारे में संवेदनशील बनाने और रेलमार्ग के रखरखाव का काम जल्द पूरा करने सहित अन्य उपाय किए जा रहे है. 

VIDEO: क्यों नौकरी देने में हो रही है देरी?
उन्होंने बताया कि दक्षिण पूर्व मध्य क्षेत्र में 70 प्रतिशत राजधानी एक्सप्रेस और पूर्वी क्षेत्र में 64 प्रतिशत शताब्दी एक्सप्रेस रेलगाड़ियां देरी से चल रही है. दक्षिण मध्य क्षेत्र में सभी राजधानी एक्सप्रेस रेलगाड़ियां देरी से चल रही हैं जबकि दक्षिण पूर्व क्षेत्र में सर्वाधिक 92 प्रतिशत शताब्दी एक्सप्रेस रेलगाड़ियां समय से चल रही हैं. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement