NDTV Khabar

हिंसक प्रदर्शनों के चलते त्रिपुरा, असम आने-जाने वाली सभी यात्री ट्रेनें निलंबित, इंडिगो ने रद्द की उड़ानें

बुधवार रात गुवाहाटी में अनिश्चितकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया था. यहां प्रदर्शनकारियों ने असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और केंद्रीय मंत्री रामेश्वर तेली के घर को निशाना बनाया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हिंसक प्रदर्शनों के चलते त्रिपुरा, असम आने-जाने वाली सभी यात्री ट्रेनें निलंबित, इंडिगो ने रद्द की उड़ानें

सेना ने गुरुवार को सुबह गुवाहाटी में फ्लैग मार्च निकाला.

खास बातें

  1. नागरिकता संशोधन बिल को लेकर हो रहा है प्रदर्शन
  2. बुधवार रात गुवाहाटी में लगा दिया गया कर्फ्यू
  3. बीजेपी नेताओं के घरों को प्रदर्शनकारियों ने बनाया निशाना
नई दिल्ली:

नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ असम और त्रिपुरा में हो रहे हिंसक विरोध प्रदर्शनों का असर यातायात पर पड़ रहा है. रेलवे ने असम और त्रिपुरा आने-जाने वाली सभी यात्री ट्रेनों को निलंबित कर दिया और लंबी दूरी वाली ट्रेनों को गुवाहाटी में ही रोका जा रहा है. वहीं विमानन कंपनी इंडिगो ने डिब्रूगढ़ आने-जाने वाली सभी फ्लाइट्स कैंसल कर दी हैं. कंपनी ने यात्रियों को इसके लिए अल्टरनेट फ्लाइट लेने या रिफंड की पेशकश की है.

पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के प्रवक्ता सुभानन चंदा ने बताया कि सुरक्षा स्थिति को देखते हुए यह फैसला बुधवार रात में लिया गया,  जिसके बाद कई यात्री कामाख्या और गुवाहाटी में फंस गए. बुधवार रात गुवाहाटी में अनिश्चितकाल के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया था क्योंकि यहां प्रदर्शनकारियों ने असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और केंद्रीय मंत्री रामेश्वर तेली के घर को निशाना बनाया था.

असम में प्रदर्शनकारियों ने किया कर्फ्यू का उल्लंघन, सेना ने निकाला फ्लैग मार्च


असम के मुख्यमंत्री के गृहनगर डिब्रूगढ़ के चबुआ में प्रदर्शनकारियों ने बुधवार रात एक रेलवे स्टेशन को आग लगा दी थी. इसके अलावा तिनसुकिया जिले में पानीटोला रेलवे स्टेशन को भी आग के हवाले कर दिया गया.  आरपीएफ कुमार के महानिदेशक अरुण कुमार ने पीटीआई-भाषा को बताया कि रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) की 12 कंपनियों को क्षेत्र में भेजा गया है. 

टिप्पणियां

 असम में हो रहे विरोध प्रदर्शन पर बोले PM मोदी- आपके अधिकारों को कोई नहीं छीन सकता

बता दें कर्फ्यू के बावजूद गुरुवार सुबह लोग सड़कों पर निकल आए थे. सेना ने शहर में सुबह फ्लैग मार्च निकाला. भारी संख्या में नाकेबंदी के बाद असम के कई शहरों में सड़कों पर वाहन फंसे हुए हैं. पांच-छह वाहनों में आग भी लगा दी गई. राज्य के कई हिस्सों में भाजपा और असम गण परिषद (अगप) के नेताओं के घर पर भी हमले हुए. असम पुलिस के अतिरिक्त महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) ने कहा, 'अगले आदेश तक कर्फ्यू लगा रहेगा. हम स्थिति पर करीबी नजर रख रहे हैं और अब तक स्थिति नियंत्रण में है.' 
(इनपुट-भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... सेक्स कम करने से 35 की उम्र के बाद महिलाओं में आती है ये परेशानी

Advertisement