NDTV Khabar

यात्रा के दौरान पहचान पत्र की सॉफ्ट कॉपी भी स्वीकार करेगा रेलवे, बशर्ते...

ट्रेन में यात्रा के दौरान अपना पहचान पत्र गुम होने को लेकर चिंतित हैं तो अब आपको इसे लेकर फिक्र करने की जरूरत नहीं है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
यात्रा के दौरान पहचान पत्र की सॉफ्ट कॉपी भी स्वीकार करेगा रेलवे, बशर्ते...

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली: ट्रेन में यात्रा के दौरान अपना पहचान पत्र गुम होने को लेकर चिंतित हैं तो अब आपको इसे लेकर फिक्र करने की जरूरत नहीं है. रेलवे ने कहा है कि वह अब आपके आधार और ड्राइविंग लाइसेंस की सॉफ्ट प्रतियां स्वीकार करेगा, बशर्ते वह डिजीलॉकर में स्टोर हो. डिजीलॉकर सरकार द्वारा संचालित एक डिजिटल स्टोरेज सेवा है, जिसमें भारतीय नागरिक क्लाउड पर अपनी कुछ आधिकारिक दस्तावेज स्टोर कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें : ट्रेनों के एसी डिब्बों में यात्रा करने वाले यात्रियों को अब नहीं मिलेगा यह सामान...

रेलवे ने अपने सभी जोनल मुख्य वाणिज्यिक प्रबंधकों को सूचित किया है कि ऐसी सेवा के लिए इन दो पहचान प्रमाणों को यात्री के वैध पहचान प्रमाण के रूप में स्वीकार किया जाएगा. आदेश में कहा गया है, 'अगर एक यात्री अपने डिजीलॉकर एकाउंट में लॉगइन करके 'जारी दस्तावेज' सेक्शन से आधार या ड्राइविंग लाइसेंस दिखाता है तो इसे एक वैध पहचान पत्र के रूप में स्वीकार किया जाना चाहिए.' 

यह भी पढ़ें :  अब ट्रेनें नहीं होंगी लेट, इस सुझाव पर विचार कर रहा है रेलवे

हालांकि, इसमें स्पष्ट किया गया है कि यात्री द्वारा खुद से अपलोड दस्तावेज जो कि 'अपलोड दस्तावेज' सेक्शन में है, उसे यात्री के वैध प्रमाणपत्र के रूप में स्वीकार नहीं किया जाएगा. नरेंद्र मोदी सरकार के डिजिटल इंडिया अभियान के तहत वर्तमान समय में डिजीलॉकर में डिजिटल लाइसेंस और आधार स्टोर किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें : ट्रेन होगी लेट तो यात्रियों को IRCTC उपलब्ध कराएगा मुफ्त खाना...

टिप्पणियां
क्लाउड आधारित सेवा ने छात्रों को मार्कशीट का डिजिटल संस्करण देने के लिए सीबीएसई के साथ भी करार किया था. उपभोक्ता डिजीलॉकर से अपने स्थायी खाता संख्या (पैन) को भी जोड़ सकते हैं.

(इनपुट : भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement