रेलवे ने सिग्नल एवं दूरसंचार कार्य के लिए एक चीनी कंपनी को दिया गया ठेका रद्द किया: अधिकारी

रेलवे ने पूर्वी समर्पित मालवाहक गलियारे के सिग्नल एवं दूरसंचार कार्य के लिए एक चीनी कंपनी को दिया गया ठेका ‘काम की धीमी गति’ को लेकर शुक्रवार को रद्द कर दिया.यह कार्य कानपुर और मुगलसराय के बीच गलियारे के 417 किलोमीटर लंबे खंड पर किया जाना था.

रेलवे ने सिग्नल एवं दूरसंचार कार्य के लिए एक चीनी कंपनी को दिया गया ठेका रद्द किया: अधिकारी

रेलवे ने चीनी कंपनी को दिया गया ठेका रद्द किया

नई दिल्ली:

रेलवे ने पूर्वी समर्पित मालवाहक गलियारे के सिग्नल एवं दूरसंचार कार्य के लिए एक चीनी कंपनी को दिया गया ठेका ‘काम की धीमी गति' को लेकर शुक्रवार को रद्द कर दिया.यह कार्य कानपुर और मुगलसराय के बीच गलियारे के 417 किलोमीटर लंबे खंड पर किया जाना था. डेडीकेटेड फ्रेट कोरिडोर कोरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (डीएफसीसीआईएल) के प्रबंध निदेशक अनुराग सचान ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘ यह निरस्तीकरण पत्र आज जारी किया गया.'' डीएफसीसीआईएल इस परियोजना की क्रियान्वयन एजेंसी है.

Newsbeep

सचान ने कहा कि बीजिंग नेशनल रेलवे रिसर्च एडं डिजायन इंस्टीट्यूट ऑफ सिग्नल एंड कम्युनिकेशन ग्रुप को 14 दिन का नोटिस देने के बाद यह निरस्तीकरण पत्र जारी किया गया. इसी ग्रुप को 2016 में 471 करोड़ रूपये का यह ठेका दिया गया था. अधिकारियों ने कहा था कि चीनी कंपनी को इस परियोजना से बाहर निकालने का काम जनवरी 2019 में शुरू हुआ था क्योंकि वह निर्धारित समय सीमा में काम नहीं कर पायी थी. यह ठेका ऐसे समय में निरस्त किया गया है जब भारत और चीन के रिश्ते में पिछले महीने लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ संघर्ष में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने के बाद तनाव आ गया. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: वाराणसी के कुम्हार हुनर से देंगे चीनी सामान को टक्कर



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)