राजस्थान : विधानसभा सत्र की मंज़ूरी के बाद 3 चार्टर प्लेन में जैसलमेर रवाना हुए कांग्रेस MLAs

गहलोत कैंप के विधायकों को तीन चार्टर्ड प्लेन से जैसलमेर ले जाया जा रहा है. एक विमान रवाना हो चुका है.

राजस्थान : विधानसभा सत्र की मंज़ूरी के बाद 3 चार्टर प्लेन में जैसलमेर रवाना हुए कांग्रेस MLAs

विधायकों को जैसलमेर ले जाया जा रहा है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • विधायकों को ले जाया जा रहा जैसलमेर
  • 14 अगस्त तक जैसलमेर में रहेंगे MLAs
  • 14 अगस्त से शुरू होगा विधानसभा सत्र
जयपुर:

राजस्थान (Rajasthan Political Crisis) में राज्यपाल कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) द्वारा विधानसभा सत्र की मंजूरी मिलने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने अपने सभी समर्थक विधायकों को जैसलमेर ले जाने की तैयारी कर ली है. तीन चार्टर्ड प्लेन से विधायकों को जैसलमेर ले जाया जा रहा है. एक विमान रवाना हो चुका है. अन्य विधायक कुछ देर में रवाना होंगे. कुछ देर पहले गहलोत कैंप के सभी विधायक एयरपोर्ट पर नजर आए थे. मिली जानकारी के मुताबिक, सभी विधायक 14 अगस्त तक जैसलमेर में रहेंगे. दरअसल राज्यपाल ने गहलोत सरकार को 14 अगस्त से विधानसभा सत्र बुलाने की इजाजत दी है.

इसी माह की शुरूआत में राजस्थान का सियासी संकट शुरू होने के बाद मुख्यमंत्री आवास में CLP की मीटिंग हुई थी. बैठक में सचिन पायलट से उप-मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का पद छीनने की मांग उठी. मांग पर पार्टी आलाकमान ने मुहर लगाई और पायलट को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया. जिसके बाद से गहलोत खेमे के सभी विधायक जयपुर स्थित फेयरमाउंट होटल में ठहरे हुए थे. विधायकों द्वारा तस्वीरें और वीडियो लगातार शेयर किए जा रहे थे. दरअसल विधायकों को जैसलमेर ले जाने के पीछे की वजह MLAs की खरीद-फरोख्त को रोकना है.

राजस्‍थान : CM गहलोत का दावा- ये लड़ाई हम जीतेंगे, 'बागियों' को माफी के मुद्दे पर कही यह बात

CM अशोक गहलोत ने बीते दिन विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर दावा करते हुए कहा था, 'कल रात से जब से विधानसभा सत्र बुलाने की घोषणा हुई है, राजस्थान में खरीद-फरोख्त (विधायकों की) का रेट बढ़ गया है. इससे पहले पहली किश्त 10 करोड़ और दूसरी किश्त 15 करोड़ रुपये थी. अब यह असीमित हो गई है. सब लोग जानते हैं कौन लोग खरीद-फरोख्त कर रहे हैं.'

राजस्‍थान : विधानसभा सत्र पर गतिरोध के बीच CM गहलोत ने अपने रुख में दिखाई कुछ नरमी

बीते बुधवार CM गहलोत ने कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय में पार्टी के नये प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा द्वारा पदभार ग्रहण करने के अवसर पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. उन्होंने कहा, 'केंद्र सरकार के सहयोग से, बीजेपी के षड्यंत्र से और धनबल के प्रयोग से राज्य की कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने की साजिश रची जा रही है. ये जो माहौल बना है, उससे चिंता करने की जरूरत नहीं है. हमारी सरकार स्थायी और मजबूत है.'

राजस्थान : BSP ने खटखटाया HC का दरवाजा, 6 विधायकों के कांग्रेस में विलय को दी चुनौती

मुख्यमंत्री ने आगे कहा, 'पार्टी से बगावत करने वालों की माफी को लेकर फैसला आलाकमान को करना है. ये लड़ाई हम जीतेंगे और जिन लोगों ने पार्टी को धोखा दिया है, वे वापस आ जाएंगे, माफी मांग लेंगे पार्टी आलाकमान से कि गलती हो गई. आलाकमान जो भी फैसला करेगा, हमें मंजूर होगा, लेकिन हम चाहेंगे कि वे जनता के विश्वास को तोड़ें नहीं.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: पायलट ने प्रियंका गांधी से सीएम बनाए जाने की रखी थी मांग : सूत्र