NDTV Khabar

छह बार BJP विधायक रहे घनश्याम तिवाड़ी खड़ा करेंगे 'तीसरा दल'

राजस्थान विधानसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है. चुनाव आयोग द्वारा चुनाव की तिथि के ऐलान के बाद अब सभी पार्टियां जोर आजमाइश की जुगत में जुट गई हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
छह बार BJP विधायक रहे घनश्याम तिवाड़ी खड़ा करेंगे 'तीसरा दल'

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018: घनश्याम तिवाड़ी

खास बातें

  1. राजस्थान में तीसरे मोर्चे की तैयारी में हैं घनश्याम तिवाड़ी.
  2. उन्होंने वसुंधरा राजे और अमित शाह को तानाशाह बताया.
  3. संघ के विचारक रह चुके हैं घनश्याम.
नई दिल्ली:

राजस्थान विधानसभा चुनाव की रणभेरी बज चुकी है. चुनाव आयोग द्वारा चुनाव की तिथि के ऐलान के बाद अब सभी पार्टियां जोर आजमाइश की जुगत में जुट गई हैं. मगर राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी के एक बागी विधायक ने एक अलग राग अलाप दिया है. दरअसल,  भाजपा के बागी विधायक और अब भारत वाहिनी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष घनश्याम तिवाड़ी राजस्थान में ऐसा ‘तीसरा दल' खड़ा करने की कोशिश में हैं जो आगामी विधानसभा चुनाव में मतदाताओं के लिए एक नया विकल्प बन सके. घनश्याम तिवाड़ी के अनुसार, प्रस्तावित तीसरा दल राज्य की सभी सीटों पर प्रत्याशी खड़े करने की कोशिश करेगा. 

बीजेपी की टेंशन बढ़ाने वाला सर्वे: MP, राजस्थान, छत्तीसगढ़ से भाजपा की विदाई, कांग्रेस की हो सकती है सत्ता में वापसी

छह बार के विधायक, आरएसएस विचारक, ब्राह्मण समुदाय में पैठ रखने वाले और लंबे समय तक भाजपा से जुड़े रहे तिवाड़ी का आकलन था कि, ‘राजस्थान में भाजपा की पराजय होने जा रही है लेकिन कांग्रेस इस स्थिति में नहीं होगी कि वह सरकार बना ले. ऐसे में तीसरे दल के लिए व्यापक संभावना है.' तिवाड़ी ने कहा, ‘राजस्थान में ऐसा कोई राजनीतिक दल सक्रिय नहीं है जो तीसरा मोर्चा बनाए, इसलिए हम ‘तीसरे दल' के गठन पर काम कर रहे हैं.  इसमें वे लोग होंगे जो राजस्थान में काम कर रहे हैं या कुछ संगठन हैं जो कभी न कभी राजस्थान में सक्रिय रहे हैं... उन सबके साथ मिलकर हम 200 विधानसभा सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़े करेंगे.' 


राजस्थान की रैली में पीएम मोदी ने पूछा- क्या हो गया है कांग्रेस पार्टी को

उन्होंने कहा कि इस संबंध में खींवसर से विधायक हनुमान बेनीवाल सहित अन्य लोगों तथा दलों के साथ बातचीत चल रही है. तिवाड़ी ने कहा कि राजस्थान के समग्र विकास तथा इसे ‘बीमारू' राज्य की श्रेणी से निकालने के लिए ‘कांग्रेस-भाजपा की द्विदलीय व्यवस्था से इतर एक तीसरे दल को खड़ा किया जाना बहुत जरूरी है क्योंकि विकास के मोर्चे पर वे ही राज्य आगे निकल रहे हैं जहां राजनीतिक मोर्चे पर ‘त्रिकोण' बनता है. 

मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़, राजस्थान सहित 5 राज्यों में चुनाव का शंखनाद : जानें नामांकन और वोटिंग की कब है तारीख

टिप्पणियां

तिवाड़ी ने राजस्थान में भाजपा की सरकार को अंगद का पांव बताए जाने संबंधी बयान के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की आलोचना की. उन्होंने आरोप लगाया, ‘न तो अमित शाह और न ही (मुख्यमंत्री) वसुंधरा राजे में लोकशाही की भावना है.  दोनों ही तानाशाह हैं.' उन्होंने कहा ‘शाह का यह कहना, कि मुख्यमंत्री मैं बनाऊंगा, राजस्थान की जनता का अपमान है. इस तरह की बात करना लोकतंत्र को चुनौती देना है. इस चुनौती का राजस्थान की जनता मुनासिब जवाब देगी.' उल्लेखनीय है कि राजस्थान में इसी साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं. 

VIDEO: मिशन 2019 इंट्रो : चुनाव नजदीक इसलिए उठा राम मंदिर का मुद्दा?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement