राजस्थान : अंतिम दौर की लड़ाई, विधायकों के बीच सेनापति की तरह बोले CM अशोक गहलोत

राजस्थान में सरकार बचाने की कोशिश में जुटे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की लड़ाई अब अंतिम पड़ाव की ओर पहुंच गई है. 14 अगस्त को विधानसभा सत्र बुलाया गया है जहां विश्वास मत की तैयारी है.

खास बातें

  • जैसलमेर पहुंचे कांग्रेस विधायक
  • सीएम गहलोत ने किया संबोधित
  • BJP के भी 6 विधायक गुजरात में दिखे
नई दिल्ली :

सूत्रों के हवाले से खबर मिल रही है कि सचिन पायलट और बागी विधायक में कुछ लोग गांधी परिवार से मिलने की योजना बना रहे हैं और कहा जा रहा है कि इस मुलाकात में कड़वाहट मिटने की कोशिश की जाएगी. हालांकि इस बात से सचिन पायलट का खेमा मुकर रहा है और साफ कहना है कि उनका मुख्य लक्ष्य अशोक गहलोत को मुख्यमंत्री के पद से हटाना है.  उधर राजस्थान में सरकार बचाने की कोशिश में जुटे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की लड़ाई अब अंतिम पड़ाव की ओर पहुंच गई है. 14 अगस्त को विधानसभा सत्र बुलाया गया है जहां विश्वास मत की तैयारी है. लेकिन इससे पहले विधायकों को तोड़ने की आशंका भी जताई जा रही है. यह डर न सिर्फ कांग्रेस को बल्कि बीजेपी को भी सताने लगा है. यही वजह है कि उसके 6 विधायक गुजरात में देखे गए हैं. वहीं कांग्रेस ने अपने विधायकों को जैसलमेर भेज दिया है. इससे पहले उन्हें काफी दिनों तक जयपुर के एक होटल में ठहराया गया है. उधर बागी विधायकों के सामने भी शर्तें रखी गई हैं कि अगर वे मान लेते हैं तो उनको दोबारा शामिल करने पर विचार किया जा सकता है. इस पूरी कवायद के बीच रविवार को जैसलमेर में सीएम अशोक गहलोत ने विधायक दल की बैठ को संबोधित किया है.

केंद्रीय मंत्री ने राजस्थान में पाकिस्तानी हिंदू शरणार्थी परिवार के 11 सदस्यों की मौत पर गहलोत सरकार को कोसा

उनका अंदाज एक सेनापति की तरह था जो निर्णायक युद्ध की तरफ जाने की तैयार है. उन्होंने विधायकों को संबोधित करते हुए कहा कि सदन में सभी को एकता दिखानी है. हम सभी 'लोकतंत्रिक योद्धा' हैं. मुख्यमंत्री गहलोत ने आगे कहा, 'हम इस लड़ाई को जीतने जा रहे हैं और साढ़े तीन साल बाद होने जा रहे विधानसभा चुनाव भी जीतेंगे. जिस तरह अभी तक आपने एकता दिखाई है उसी तरह सदन में एकता दिखाना है.' गौरतलब है कि राजस्थान में कांग्रेस की सरकार सचिन पायलट की अगुवाई में 18 विधायकों बगावत का सामना कर रही है. जिसके बाद माना जा रहा है कि राज्य सरकार संकट में है. लेकिन सीएम अशोक गहलोत ने 14 अगस्त को विधानसभा सत्र बुला लिया है. माना जा रहा है कि इस दौरान वह विश्वास मत ला सकते हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अज्ञात जगह के लिए रवाना हुए गुजरात आए राजस्थान BJP के 6 विधायक, भाजपा नेता बोले- मुझे कोई जानकारी नहीं

इससे पहले गहलोत ने अपने सभी विधायकों से कहा है कि वह अपने-अपने क्षेत्र में जाकर जनता की कल्याण के लिए उठाए गए कदमों की लिस्ट लोगों को सौपें साथ ही ये भी बताएं कि इन पर आगे भी काम होगा. विधायक दल की बैठक में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह दोस्तारा, अजय माकन, रणदीप सिंह सुरजेवाला भी मौजूद थे. इस मौके पर कांग्रेस महासचिव ने कहा कि कांग्रेस का इतिहास तो आजादी से पहले से ही संघर्ष का रहा है. उन्होंने दूसरी पार्टियों के विधायकों का भी धन्यवाद दिया जो इस संकट में साथ खड़े हैं. (इनपुट पीटीआई से भी)