राजस्थान के सियासी घमासान पर BJP रख रही है नज़र, वसुंधरा राजे बोलीं - सचिन पायलट के साथ हुआ अन्याय

सचिन पायलट के बागी तेवरों को देखते हुए कांग्रेस अपनी किलेबंदी को मजबूत करने में जुटी हुई है तो वहीं बीजेपी इस पूरे मामले पर करीब से नजर रखे हुए है.

राजस्थान के सियासी घमासान पर BJP रख रही है नज़र, वसुंधरा राजे बोलीं - सचिन पायलट के साथ हुआ अन्याय

बीजेपी को सचिन पायलट के अगले कदम का इंतजार

नई दिल्ली:

Rajasthan Political Crisis: राजस्थान में रविवार से शुरू हुए सियासी घमासान ने अब तेजी पकड़ ली है. सचिन पायलट (Sachin Pilot)  के बागी तेवरों को देखते हुए कांग्रेस अपनी किलेबंदी को मजबूत करने में जुटी हुई है तो वहीं बीजेपी इस पूरे मामले पर करीब से नजर रखे हुए है. बीजेपी अब इस बात पर इंतजार कर रही है कि सचिन पायलट का अगला कदम क्या होगा. हालांकि सूत्रों का कहना है कि सचिन की बगावत में बीजेपी की कोई भूमिका नहीं है, यह कांग्रेस की अंदरुनी लड़ाई है. जानकार बताते हैं कि राजस्थान में अशोक गहलोत सरकार का गिरना आसान नहीं होगा. क्योंकि बीजेपी और कांग्रेस के बीच संख्या बल का बड़ा अंतर है. 

फिलहाल बीजेपी यह देखना चाह रही है कि सचिन के साथ कितने विधायक हैं. गहलोत सरकार को गिराने के लिए कम से कम तीन कांग्रेस विधायकों का इस्तीफा देना जरूरी है. चूंकि विधानसभा का साढ़े तीन साल का कार्यकाल बाकि है, ऐसे में इस बात की संभावना कम है कि विधायक यह जोखिम लेंगे. वहीं दूसरी तरफ वसुंधरा राजे ने धौलपुर से सचिन पायलट के पक्ष में एक बयान जारी किया. उन्होंने कहा कि सचिन के साथ अशोक गहलोत बुरा व्यवहार करते थे. उसके साथ अन्याय हुआ.   

Newsbeep

बता दें कि सचिन पायलट प्रकरण को देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कांग्रेस के सीनियर नेताओं को जयपुर भेजा. रात 2.30 बजे इन नेताओं ने प्रेस कांफ्रेंस करके बताया कि उनके पास 109 विधायकों का समर्थन पत्र है और कुछ अन्य विधायकों से बात हो रही है. कांग्रेस ने आज 10.30 बजे विधायकों की बैठक भी बुलाई है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


Video: सचिन पायलट के साथ माने जा रहे तीन विधायकों का U-टर्न