राजस्‍थान हाईकोर्ट ने कांग्रेस में विलय करने वाले 6 BSP विधायकों और स्‍पीकर को भेजे नोटिस

संदीप यादव, वाजिब अली, दीपचंद खेरिया, लाखन मीणा, जोगेंद्र अवाना और राजेंद्र गुढ़ा ने 2018 के विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर जीत दर्ज की थी.

राजस्‍थान हाईकोर्ट ने कांग्रेस में विलय करने वाले 6 BSP विधायकों और स्‍पीकर को भेजे नोटिस

कांग्रेस में शामिल हुए बीएसपी विधायकों से 11 अगस्‍त तक नोटिस का जवाब देने को कहा गया है

जयपुर :

Rajasthan Political Crisis राजस्थान में चल रहे सियासी संकट के बीच हाईकोर्ट ने बहुजन समाज पार्टी (BSP) के टिकट पर चुनाव लड़ने के बाद कांग्रेस में विलय करने वाले छह विधायकों (Former BSP MLA) और विधानसभा अध्यक्ष (Rajasthan Assembly Speaker) को गुरुवार को नोटिस जारी किए हैं. इन छह विधायकों के कांग्रेस में विलय के खिलाफ BSP की ओर से याचिका दायर की गई थी जिसकी सुनवाई करते हुए राजस्थान हाईकोर्ट (Rajasthan High Court) ने ये नोटिस जारी किए हैं.विधायकों को नोटिस के जवाब 11 अगस्त तक देने हैं तथा अपना पक्ष भी रखना है.

संदीप यादव, वाजिब अली, दीपचंद खेरिया, लाखन मीणा, जोगेंद्र अवाना और राजेंद्र गुढ़ा ने 2018 के विधानसभा चुनाव में बहुजन समाज पार्टी के टिकटपर जीत दर्ज की थी. बाद में ये सभी सितंबर 2019 में बसपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए. भाजपा (BJP) विधायक मदन दिलावर ने विलय केखिलाफ इस वर्ष मार्च में विधानसभा अध्यक्ष को शिकायत दी थी और कहा था कि यह दल-बदल कानून का उल्लंघन है लेकिन अध्यक्ष ने 24 जुलाई कोउनकी शिकायत अस्वीकृत कर दी थी. दिलावर ने मंगलवार को हाईकोर्ट में रिट याचिका दाखिल कर अपनी शिकायत पर विधानसभा अध्यक्ष द्वारा दिएगए आदेश को चुनौती दी थी. विलय के खिलाफ मायावती की BSP ने भी याचिका दायर की थी.


राज्यपाल ने गहलोत सरकार को 14 अगस्त से विधानसभा सत्र बुलाने को दी मंजूरी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)