जैसलमेर से आगे पाकिस्तान, दूसरी ओर गुजरात, कहां जाएंगे कांग्रेस विधायक : BJP प्रदेशाध्यक्ष

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया (Satish Poonia) ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) पर तंज कसा है.

जैसलमेर से आगे पाकिस्तान, दूसरी ओर गुजरात, कहां जाएंगे कांग्रेस विधायक : BJP प्रदेशाध्यक्ष

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया (Satish Poonia)

जयपुर:

राजस्थान में सियासी संकट के बीच CM अशोक गहलोत के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी जहां अपनी सरकार बनाए रखने के लिए जद्दोजहद में लगी हुई है, वहीं अब बयानबाजी का दौर भी शुरू हो चला है. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया (Satish Poonia) ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) पर तंज कसा है. विधायकों को जैसलमेर ले जाने पर BJP प्रदेशाध्यक्ष ने कहा, ''जैसलमेर के आगे कहां ले जाओगे? क्योंकि उसके बाद तो पाकिस्तान आ जाता है. दूसरी तरफ उदयपुर है और फिर उसके आगे गुजरात है. कहां ले जाएंगे कांग्रेस विधायकों को.''

राजस्‍थान : CM गहलोत का दावा- ये लड़ाई हम जीतेंगे, 'बागियों' को माफी के मुद्दे पर कही यह बात

उन्होंने आगे कहा, ''मुख्यमंत्री लोकतंत्र, नैतिकता और संविधान की बड़ी-बड़ी बाते करते हैं. 2008 में उन्होंने यही काम किया था और 2018 में भी उन्होंने यही काम किया. जिस तरीके से जनप्रतिनिधियों के साथ किया है, वो बाद में बयान करेंगे. जब एकता है, खतरा है, कोई भय नहीं है तो बाड़ा खोल दो, घूमते क्यों फिर रहे हैं.''

बता दें कि राजस्थान में राज्यपाल कलराज मिश्र (Kalraj Mishra) द्वारा विधानसभा सत्र की मंजूरी मिलने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने अपने सभी समर्थक विधायकों को जैसलमेर ले गए. तीन चार्टर्ड प्लेन से विधायकों को जैसलमेर ले जाया गया. गहलोत कैंप के सभी विधायक एयरपोर्ट पर नजर आए थे. मिली जानकारी के मुताबिक, सभी विधायक 14 अगस्त तक जैसलमेर में रहेंगे. दरअसल राज्यपाल ने गहलोत सरकार को 14 अगस्त से विधानसभा सत्र बुलाने की इजाजत दी है.

राजस्‍थान : विधानसभा सत्र पर गतिरोध के बीच CM गहलोत ने अपने रुख में दिखाई कुछ नरमी

इसी माह की शुरूआत में राजस्थान का सियासी संकट शुरू होने के बाद मुख्यमंत्री आवास में CLP की मीटिंग हुई थी. बैठक में सचिन पायलट से उप-मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का पद छीनने की मांग उठी. मांग पर पार्टी आलाकमान ने मुहर लगाई और पायलट को तत्काल प्रभाव से हटा दिया गया. जिसके बाद से गहलोत खेमे के सभी विधायक जयपुर स्थित फेयरमाउंट होटल में ठहरे हुए थे. विधायकों द्वारा तस्वीरें और वीडियो लगातार शेयर किए जा रहे थे. दरअसल विधायकों को जैसलमेर ले जाने के पीछे की वजह MLAs की खरीद-फरोख्त को रोकना है.

CM अशोक गहलोत ने बीते दिन विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर दावा करते हुए कहा था, 'कल रात से जब से विधानसभा सत्र बुलाने की घोषणा हुई है, राजस्थान में खरीद-फरोख्त (विधायकों की) का रेट बढ़ गया है. इससे पहले पहली किश्त 10 करोड़ और दूसरी किश्त 15 करोड़ रुपये थी. अब यह असीमित हो गई है. सब लोग जानते हैं कौन लोग खरीद-फरोख्त कर रहे हैं.'

Newsbeep

VIDEO: पायलट ने प्रियंका गांधी से सीएम बनाए जाने की रखी थी मांग : सूत्र

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com