NDTV Khabar

राजदेव रंजन मर्डर केस: सीबीआई दो हफ्ते में सुप्रीम कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करेगी, 18 सितंबर को होगी सुनवाई

कोर्ट में अब 18 सितंबर को इस मामले की सुनवाई होगी. दरअसल राजदेव रंजन की पत्नी आशा रंजन ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है.

7 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजदेव रंजन मर्डर केस: सीबीआई दो हफ्ते में सुप्रीम कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करेगी, 18 सितंबर को होगी सुनवाई

राजदेव रंजन (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली: सीवान में पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या के मामले में CBI ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि वह दो हफ्ते में इस मामले में जांच पूरी कर कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करेगी. कोर्ट में अब 18 सितंबर को इस मामले की सुनवाई होगी. दरअसल राजदेव रंजन की पत्नी आशा रंजन ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है. उसमें बिहार के बाहुबली नेता शहाबुद्दीन और स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप सिंह के ख़िलाफ हत्या के आरोपियों मोहम्मद कैफ और मोहम्मद जावेद की मदद और शरण देने के मामले में FIR दर्ज कर जांच की मांग की गई है. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने शहाबुद्दीन को बिहार की जेल से दिल्ली की तिहाड़ जेल में ट्रांसफर कर दिया था.

राजदेव रंजन की पत्नी की ओर से सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर कहा गया है कि मामले की जांच सीबीआई को अपने हाथ में लेने का निर्देश दिया जाए, साथ ही उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई जाए. मामले की जांच पहले ही सीबीआई को सौंप दी गई है और दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

याचिकाकर्ता महिला आशा रंजन की ओर से उनके एडवोकेट किसलय पांडेय ने बताया कि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है. याचिका में कहा गया है कि 13 मई 2016 को सीवान में उनके पति राजदेव रंजन की गोली मारकर हत्या कर दी गई. इस मामले में नगर थाने में हत्या का केस दर्ज किया गया. अर्जी में कहा गया है कि शिकायती महिला ने मामले में शूटर के अलावा शहाबुद्दीन पर भी आरोप लगाया था लेकिन पुलिस ने शहाबुद्दीन को नामजद नहीं किया.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement