तमिलनाडु की राजनीति में फिलहाल 'शून्यता' की स्थिति : रजनीकांत

रजनीकांत ने अपने भाषण में कहा कि जब तक राज्य में जयललिता और करुणानिधि जैसे नेता राज्य की राजनीति में सक्रिय थे तब तक वैक्यूम जैसी स्थिति नहीं थी.

तमिलनाडु की राजनीति में फिलहाल 'शून्यता' की स्थिति : रजनीकांत

रजनीकांत की फाइल फोटो

खास बातें

  • जयललिता और करुणानिधि का भी किया जिक्र
  • कहा- 2021 के विधानसभा चुनाव में उतारेंगे अपने उम्मीदवार
  • लोकसभा चुनाव को लेकर कोई घोषणा नहीं की
नई दिल्ली:

सुपरस्टार रजनीकांत ने राजनीति में प्रवेश के बाद पहली बार सोमवार को आम जनता को संबोधित किया. अपने इस संबोधन में उन्होंने कहा कि मौजूदा समय में तमिलनाडु की राजनीति में शून्यता (वैक्यूम) जैसी स्थिति है. जिसे जल्द से जल्द दूर करने की जरूरत है. रजनीकांत ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि वह एआईएडीएमके के संस्थापक एमजी रामाचंद्रन की तरह ही एक बार फिर राज्य में गुड गर्वनेंस स्थापित कर पाएंगे. गौरतलब है कि रजनीकांत चेन्नई से कुछ ही दूर एक यूनिवर्सिटी से लोगों को संबोधित कर रहे थे.

यह भी पढ़ें: सीएम योगी के सामने ही उनके मंत्री ने मुलायम को रावण और मायावती को कहा शूर्पणखा

रजनीकांत ने अपने भाषण में कहा कि जब तक राज्य में जयललिता और करुणानिधि जैसे नेता राज्य की राजनीति में सक्रिय थे तब तक वैक्यूम जैसी स्थिति नहीं थी. लेकिन अब ऐसा है. लिहाजा ऐसे में राज्य को एक ऐसे लीडर की जरूरत है जो इस स्थिति से राज्य को निकाल पाए. और मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि मैं यही करने के लिए राजनीति में आया हूं. अपने चहेते सुपरस्टार को देखने और उनके भाषण को सुनने के लिए कैंपस में 5 हजार से ज्यादा लोग मौजूद थे.

यह भी पढ़ें: त्रिपुरा में बीजेपी की बड़ी जीत के बाद तीसरे मोर्चे की राजनीति गरमाई

उनके प्रशंसकों ने रजनीकांत के इस घोषणा के बाद एक सुर में उनका साथ देने का एलान किया. गौरतलब है कि रजनीकांत ने लोगों को संबोधित करने से पहले तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एमजी रामाचंद्रन की मूर्ति का  उद्घाटन किया. इस दौरान रजनीकांत ने कहा कि कई लोग कहते हैं कि कोई एमजीआर जैसा नहीं बन सकता. सच ही कहते हैं कोई भी एमजीआर की तरह नहीं बन सकता. वह एक युग पुरुष थे.

यह भी पढ़ें: चंद्रशेखर राव के 'तीसरा मोर्चा' को मिला, ममता, ओवैसी और सोरेन का साथ

ध्यान हो कि रजनीकांत ने पिछले साल 31 दिसंबर को राजनीति में प्रवेश करने की घोषणा करके सभी को चौंका दिया था. उन्होंने इस दौरान घोषणा की थी कि वह राज्य में अपनी पार्टी बनाएंगे और सभी 234 विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार भी उतारेंगे. उन्होंने राज्य में 2021 में होने वाले विधानसभा चुनाव में हिस्सा लेने की बात कही थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: तीसरे मोर्चे की राजनीति गरमाई.


हालांकि रजनीकांत ने 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में अपने उम्मीदवार उतारने और चुनाव लड़ने को लेकर कोई घोषणा नहीं की.