NDTV Khabar

राजीव गांधी के दौर में 15 पैसे पहुंचते थे, अब पूरे 1000 रुपये लोगों को मिल रहे : रविशंकर प्रसाद

कानून, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद का दावा, आधार को डीबीटी स्कीमों से जोड़ने से कुल 93000 करोड़ रुपये की बचत हुई

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राजीव गांधी के दौर में 15 पैसे पहुंचते थे, अब पूरे 1000 रुपये लोगों को मिल रहे : रविशंकर प्रसाद

कानून, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. देश में 121 करोड़ मोबाइल फोन, 121.46 करोड़ लोगों के पास आधार
  2. देश में कुल 50 करोड़ लोगों को इंटरनेट सुविधा हासिल
  3. नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की 10000 करोड़ की प्रापर्टी अटैच
नई दिल्ली:

राजीव गांधी के दौर में केंद्र से भेजे जाने वाले एक रुपये में से नीचे तक 15 पैसे पहुंचते थे, अब मोदी सरकार जो 1000 रुपये भेजती है वह पूरी राशि लोगों तक पहुंच रही है. कानून, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज यह दावा किया.

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने नेशनल मीडिया सेंटर में मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि आज देश में 121 करोड़ मोबाइल फोन हैं, 121.46 करोड़ लोगों के पास आधार है और 50 करोड़ लोगों को इंटरनेट सुविधा हासिल है. 59.15 करोड़ भारतीयों ने 87.79 करोड़ बैंक खातों को आधार से लिंक कराया है. आधार को डीबीटी (प्रत्यक्ष लाभ अंतरण) स्कीमों से जोड़ने से कुल 93000 करोड़ रुपये की बचत हुई है.

यह भी पढ़ें : रविशंकर प्रसाद बोले- मोदी सरकार में भारत की वैश्विक प्रतिष्ठा बढ़ी है


कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि तीन तलाक बिल का धर्म से कुछ लेना-देना नहीं है. यह लैंगिग समानता और न्याय के आधार पर तैयार किया गया है. उन्होंने ट्रिपल तलाक विधेयक पर सोनिया गांधी, ममता बनर्जी और मायावती से अपील करते हुए कहा कि हमें राजनीतिक विभाजन से परे जाने की जरूरत है.
 
प्रसाद ने कहा कि राजीव गांधी ने एक समय कहा था कि एक रुपये जो दिल्ली से भेजा जाता है उसमें से 15 पैसे पहुंचता है. मोदी जी की सरकार में 1000 रुपये जो भेजा जाता है वह 1000 रुपया लोगों तक पहुंच रहा है. बिचौलिए खत्म हो गए हैं. उन्होंने दावा किया कि अभी तक हम नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की 10000 करोड़ की प्रापर्टी अटैच कर चुके हैं.

टिप्पणियां

VIDEO : कांग्रेस के दंभ को नकारा

सुप्रीम कोर्ट के अगले प्रधान न्यायाधीश की नियुक्ति को लेकर रविशंकर प्रसाद ने कहा कि इस पर परंपरा स्पष्ट है. मौजूदा सीजेआई की तरफ से जब नाम आएगा तो हम विचार करेंगे. हमारी नीयत पर संदेह करना सही नहीं है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement