NDTV Khabar

शीर्ष स्तर पर नौकरशाही में फेरबदल, 1982 बैच के IAS अफसर राजीव गौबा होंगे अगले केंद्रीय गृह सचिव

राजीव गौबा 1982 बैच के झारखंड कैडर के आईएएस अधिकारी हैं. वर्तमान में केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय में सेक्रेटरी के पद पर कार्यरत हैं.

197 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
शीर्ष स्तर पर नौकरशाही में फेरबदल, 1982 बैच के IAS अफसर राजीव गौबा होंगे अगले केंद्रीय गृह सचिव

राजीव गौबा होंगे अगले केंद्रीय गृह सचिव

खास बातें

  1. गौबा अभी केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय में सेक्रेटरी के पद पर हैं
  2. वह 1982 बैच के झारखंड कैडर के आईएएस अधिकारी हैं
  3. गौबा की आरंभिक शिक्षा रांची में ही हुई थी
नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने अगले गृह सचिव का ऐलान कर दिया है. शहरी विकास सचिव राजीव गौबा अगले गृह सचिव बनने जा रहे हैं. वो राजीव महर्षि की जगह लेंगे. महर्षि का कार्यकाल 30 अगस्त को ख़त्म होने जा रहा है. केंद्र सरकार ने गृह सचिव के अलावा 15 नए सचिवों की सूची भी घोषित की है.

गौबा 1982 बैच के IAS अफ़सर हैं. वो गुरुवार को मंत्रालय में ओएसडी के रूप में अपना नया कार्यभार संभालेंगे. कार्मिक मंत्रालय के आदेश में लिखा है कि वो केंद्रीय गृह मंत्रालय में जल्द से जल्द शामिल हों. शहरी विकास सचिव बनने से पहले राजीव गौबा झारखंड के मुख्य सचिव भी रह चुके हैं. केंद्रीय गृह मंत्रालय में वह नक्सल और कश्मीर डेस्क देखते थे.

कौन हैं राजीव गौबा
राजीव गौबा 1982 बैच के झारखंड कैडर के आईएएस अधिकारी हैं. वर्तमान में केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय में सेक्रेटरी के पद पर कार्यरत हैं. वह भौतिकी विषय में गोल्ड मेडालिस्ट हैं. सिविल सर्विसेज एक्जाम में उन्होंने सातवां रैंक प्राप्त किया था. राजीव गौबा का झारखंड से पुराना संबंध रहा है. उनके पिता 60 के दशक में एजी ऑफिस रांची में कार्यरत थे. गौबा की आरंभिक शिक्षा रांची में ही हुई थी. आईएएस बनने के बाद वह जामताड़ा में एसडीओ और दुमका के डीडीसी के पद पर रह चुके हैं.

लंबा प्रशासनिक अनुभव
राजीव गौबा के पास नीति निर्धारण और कार्यक्रमों को अमली जामा पहनाने का लंबा अनुभव है. वह केंद्र सरकार, राज्य सरकार और अंतरराष्ट्रीय संगठनों में काम कर चुके हैं. गृह, रक्षा और वित्त मंत्रलय में भी काम कर चुके हैं. एक सीनियर अफसर ने बताया, 'गौबा आंतरिक सुरक्षा मामलों में नक्सलवाद और जम्मू-कश्मीर के मुद्दों के डेस्क मंत्रालय में देखते थे. नक्सलवाद पर नियंत्रण के लिए नई पॉलिसी और एक्शन प्लान बनाने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है.' उनके मुताबिक गौबा पुलिस आधुनिकीकरण और पुलिस सुधार के प्रभारी भी रह चुके हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement