'PoK का मौसम बदल गया है, इंतजार कीजिए,' बीजेपी के जम्मू जन संवाद में बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह ने कहा कश्मीर के झंडे की जगह पाकिस्तान और ISIS का झंडा हमें दिखता था लेकिन अब कश्मीर की धरती पर अगर दिखता है कोई तो वो है विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झंडा ऊंचा रहे हमारा. 

'PoK का मौसम बदल गया है, इंतजार कीजिए,' बीजेपी के जम्मू जन संवाद में बोले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

जम्मू संवाद रैली पर बोले राजनाथ सिंह

नई दिल्ली:

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जम्मू संवाद रैली को संबोधित किया. राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत की राजनीति डिजिटल दुनिया की ओर प्रस्थान कर चुकी है. कोरोना का संकट आने के बाद वर्चुअल रैली का सिलसिला भाजपा ने देश के कार्यकर्ताओं से और देश की जनता के साथ संवाद करने के लिए प्रारंभ किया है. उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मंचों पर जब जम्मू कश्मीर और धारा 370 का सवाल खड़ा होता था तो ज्यादातर देश पाकिस्तान के साथ खड़े होते थे. अंतरराष्ट्रीय जगत में पीएम मोदी ने देश की प्रतिष्ठा इतनी बढ़ाई है कि हमें दूसरे देशों के साथ अब मुस्लिम देशों का भी समर्थन प्राप्त हो रहा है. राजनाथ सिंह ने कहा कि कश्मीर में पहले कश्मीर की आजादी को मुद्दा बनाकर आंदोलन होते थे. उन आंदोलनों में कश्मीर के झंडे की जगह पाकिस्तान और ISIS का झंडा हमें दिखता था लेकिन अब कश्मीर की धरती पर अगर दिखता है कोई तो वो है विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झंडा ऊंचा रहे हमारा. 

Newsbeep

उन्होंने कहा कि जल्द ही पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के लोग भी बोलेंगे कि हमें भारत के हिस्से में जाना है. ऐसा होने के बाद भारतीय संसद का संकल्प भी पूरा होगा. राजनाथ सिंह के अनुसार मौसम बदल चुका है और हमारे चैनल्स मुजफ्फराबाद-गिलगिट का तापमान, दर्जा हरारत बता रहे हैं. इस्लामाबाद में कुछ हरारत हो रही है जिसकी वजह से वह सीमा पर ज्यादा शरारत करने पर आमादा हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


रैली के दौरान केंद्रीय मंत्री ने  हाल ही में आतंकियों के हाथ मारे गए सरपंच अजय पंडिता की हत्या की. उन्होंने कहा, 'मैं सरपंच अजय पंडिता को श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं, जोकि एक कायराना हमले में मारे गए. मैं बारामुला के मोहम्मद मकबूल शेरवानी को भी श्रद्धांजलि देता हूं, जिन्होंने 1947 में घाटी में तिरंगा लहराया था.'चीन के मुद्दे पर चर्चा करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि जो विवाद भारत और चीन के बीच पैदा हुआ है. उस पर सेना के स्तर पर बातचीत चल रही है. चीन ने भी ये इच्छा जाहिर की है कि बातचीत के द्वारा इस मसले का हल निकाला जाना चाहिए और हमारी भी यही कोशिश है.