NDTV Khabar

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का पाकिस्तान पर हमला- 'जैसा पड़ोसी हमारे बगल में बैठा है, भगवान करे कि...'

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने पाकिस्तान पर करारा हमला बोला है. राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा कि जैसा पड़ोसी हमारे बगल में बैठा है, परमात्मा करे कि ऐसे पड़ोसी किसी को न मिलें...'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का पाकिस्तान पर हमला- 'जैसा पड़ोसी हमारे बगल में बैठा है, भगवान करे कि...'

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. जम्मू पर भारत के फैसले से बौखलाया पाक
  2. राजनयिक को निकला, समझौता एक्सप्रेस को भी किया बंद
  3. राजनाथ सिंह बोल- ऐसा पड़ोसी भगवान करे किसी को न मिले
नई दिल्ली :

भारत की ओर से जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने और उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटे जाने से पाकिस्तान (Pakistan) बौखला गया है. बुधवार को पहले तो उसने भारतीय राजनयिक को वहां से निकाल दिया और दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को खत्म कर दिया. इसके बाद गुरुवार को पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख राशिद ने भारत-पाकिस्तान के बीच चलने वाले समझौता एक्सप्रेस (Samjhauta Express) ट्रेन को भी रद्द करने का ऐलान कर दिया. न्यूज एजेंसी पीटीआई ने भारतीय सूत्रों के हवाले से लिखा है, पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस ट्रेन को वाघा बॉर्डर पर रोक दिया है. ट्रेन में यात्री फंसे हुए हैं. 


इन सबसे बीच रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने पाकिस्तान पर करारा हमला बोला है. न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार राजनाथ सिंह ने दो टूक शब्दों में कहा कि सबसे बड़ी आशंका तो हमें हमारे पड़ोसी के बारे में रहती है. समस्या यह है कि आप दोस्त बदल सकते हैं, मगर पड़ोसी का चुनाव आपके हाथ में नहीं होता है और जैसा पड़ोसी हमारे बगल में बैठा है, परमात्मा करे कि ऐसे पड़ोसी किसी को न मिलें...'

बता दें कि बुधवार को भारत के साथ द्विपक्षीय राजनयिक संबंधों को कमतर करने का फैसला करने के कुछ ही देर बाद बुधवार को पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे को लेकर भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया को निष्कासित कर दिया था. पाकिस्तान ने यह कदम प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) की अध्यक्षता में हुई राष्ट्रीय सुरक्षा समिति (एनएससी) की बैठक के बाद उठाया है, जिसमें भारत के साथ व्यापारिक रिश्तों को तोड़ने और "द्विपक्षीय संबंधों" की समीक्षा का भी फैसला लिया गया था.

अमेरिकी सांसदों ने पाकिस्तान को दी नसीहत, कहा- भारत के खिलाफ बदले की कार्रवाई से बचें

इसके बाद विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान की ओर से भारत के राजनयिक स्तर में कटौती करने सहित अन्य कदमों को दुनिया के सामने द्विपक्षीय संबंधों की चिंताजनक तस्वीर पेश करने का प्रयास करार दिया. साथ ही मंत्रालय ने कहा था कि अनुच्छेद 370 से जुड़ा, हाल का सम्पूर्ण घटनाक्रम पूरी तरह से भारत का आतंरिक मामला है. विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि भारत का संविधान हमेशा से सम्प्रभु मामला रहा है और आगे भी रहेगा. इस अधिकार क्षेत्र में हस्तक्षेप कर क्षेत्र की चिंताजनक तस्वीर पेश करने की चाल कभी सफल नहीं होगी.

जम्मू-कश्मीर संबंधी कानून पर निकटता से नजर रख रहा है अमेरिका: अधिकारी

मंत्रालय ने कहा, ‘भारत सरकार कल पाकिस्तान द्वारा घोषित कदमों की निंदा करती है और उस देश से इसकी समीक्षा करने को कहती है ताकि सामान्य राजनयिक चैनल को बनाये रखा जा सके.' विदेश मंत्रालय ने कहा कि हमने उन खबरों को देखा है जिनमें कहा गया है कि पाकिस्तान ने भारत के साथ द्विपक्षीय संबंधों को लेकर कुछ एकतरफा फैसला किया है. इसमें हमारे राजनयिक संबंधों के स्तर में कटौती करना शामिल है.

टिप्पणियां

कश्मीर पर फैसले से बौखलाया पाक- भारतीय राजनयिक को निकाला, द्विपक्षीय व्यापार भी किया निलंबित

VIDEO: पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस ट्रेन बंद की



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement