चीन के साथ गतिरोध के बीच रक्षा मंत्री का कड़ा संदेश, 'भारत युद्ध नहीं चाहता लेकिन सम्‍मान को ठेस पहुंची तो... '

चीन के साथ गतिरोध का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस मामले में भारतीय सैनिकों ने गजब का साहस और धैर्य दिखाया है और यदि इसे बयां किया जा सके तो हर भारतीय को गर्व होगा.

चीन के साथ गतिरोध के बीच रक्षा मंत्री का कड़ा संदेश, 'भारत युद्ध नहीं चाहता लेकिन सम्‍मान को ठेस पहुंची तो... '

बेंगलुरु:

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने चीन के साथ पिछले आठ महीने से चल रहे गतिरोध (India-China Standoff) के बीच कहा है कि भारत युद्ध नहीं चाहता लेकिन यदि कोई ‘महाशक्ति' देश के सम्मान को ठेस पहुंचाती है तो देश के सैनिक मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम हैं. राजनाथ ने गुरुवार को कहा, ‘‘हम युद्ध नहीं चाहते और हम सभी की सुरक्षा के पक्ष में हैं लेकिन मैं स्पष्ट रूप से यह भी कहना चाहता हूं कि यदि कोई महाशक्ति हमारे सम्मान को ठेस पहुंचाना चाहती है तो हमारे जवान उन्हें मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम हैं.''

LAC पार करके भारतीय सीमा में घुसा चीन का सैनिक, भारतीय जवानों ने पकड़ा

रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत कभी किसी देश के साथ संघर्ष नहीं चाहता और उसने अपने पड़ोसियों के साथ शांति और मित्रवत संबंध रखने को प्राथमिकता दी है. उन्होंने बेंगलुरु में भारतीय वायुसेना (IAF) की मुख्यालय प्रशिक्षण कमान में पांचवें सशस्त्र बल पूर्व सैनिक दिवस के अवसर पर कहा, ‘‘यह हमेशा अपने पड़ोसियों के साथ शांति और दोस्ताना संबंध चाहता है क्योंकि यह हमारे खून और संस्कृति में है.''

चीन ने 'अपरंपरागत' हथियारों का इस्तेमाल कर LAC पर स्थिति बिगाड़ी : रक्षा मंत्रालय

चीन के साथ गतिरोध का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इस मामले में भारतीय सैनिकों ने अनुकरणीय साहस और धैर्य दिखाया है और यदि इसे बयां किया जा सके तो हर भारतीय को गर्व होगा. रक्षा मंत्री ने ‘पाकिस्तान की जमीन पर आतंकवादियों को ढेर कर देने' का असाधारण साहस दर्शाने वाले भारतीय जवानों की भी प्रशंसा की.प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (CDS) जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat)भी इस दौरान मौजूद थे.


सेना प्रमुख बोले, चीन और पाकिस्तान की जुगलबंदी को लेकर भारत सतर्क

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com




(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)