NDTV Khabar

INS विक्रमादित्य पर राजनाथ सिंह ने बिताई रात, कहा- हम 26/11 हमले को भूल नहीं सकते और ऐसा दोबारा नहीं होने देंगे

राजनाथ सिंह ने कहा, 'नौसेना हर खतरे से देश की रक्षा करने के पूरी तरह तैयार है. देश की सुरक्षा सुरक्षित हाथों में है.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
INS विक्रमादित्य पर राजनाथ सिंह ने बिताई रात, कहा- हम 26/11 हमले को भूल नहीं सकते और ऐसा दोबारा नहीं होने देंगे

खास बातें

  1. रक्षामंत्री ने पाक पर साधा निशाना
  2. विमानवाहक पोत पर सैन्य अभ्यास का लिया जायजा
  3. नौसेना के पराक्रम की तारीफ की
नई दिल्ली:

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय नौसेना के विमानवाहक पोत INS विक्रमादित्य पर रात बिताई. ऐसा करने वाले वो देश के पहले रक्षा मंत्री हैं. सिंह रातभर आईएनएस विक्रमादित्य में रुके और इस दौरान, उन्होंने पनडुब्बियों, फ्रिगेट्स और वाहक सहित विभिन्न सैन्य अभ्यासों को देखा. आईएनएस विक्रमादित्य विमानवाहक पोत है जिसपर मिग-29 लड़ाकू विमान तैनात हैं. रक्षा मंत्री ने नौसेना के पश्चिमी कमान के अदम्य साहस और मारक क्षमता का दीदार भी किया. पश्चिमी कमान के जवानों को संबोधित करते हुए राजनाथ सिंह ने कहा, 'नौसेना हर खतरे से देश की रक्षा करने के पूरी तरह तैयार है. देश की सुरक्षा सुरक्षित हाथों में है.' उन्होंने कहा, 'देश की सुरक्षा इस बात पर निर्भर करती है कि समुद्र में हम कितने शक्तिशाली हैं.'

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को दी चेतावनी, बोले- अब हम और बड़ा झटका...


पश्चिमी कमान की तारीफ करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि बालाकोट में आतंकी कैम्प पर हमले के बाद उत्तरी अरब सागर में जिस तरह पश्चिमी कमान ने अपनी तैनाती को धार दी उसके बाद हमारा मुख्य प्रतिद्वंद्वी समुद्र में कोई हिमाकत करने का साहस नहीं जुटा पाया. उन्होंने रविवार को आईएनएस विक्रमादित्य की यात्रा के दौरान पत्रकारों से बातचीत में कहा, 'भारतीय तटरेखा पर आतंकी हमले का खतरा कायम है क्योंकि पड़ोसी देश भारत को अस्थिर करने के लिए नापाक हरकतें कर रहा है.' तटरेखा पर आतंकवादी हमले के खतरों पर रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘दुनिया में हर देश के पास अपनी रक्षा के लिए पर्याप्त सुरक्षा होनी चाहिए. हम किसी भी आशंका (आतंकवाद के खतरे) को हल्के में नहीं ले सकते.'' 

भारतीय नौसेना में शामिल हुई पनडुब्बी 'खंडेरी', रक्षा मंत्री ने कहा- 26/11 जैसा हमला दोहराना चाहती हैं कुछ ताकतें, नहीं होने देंगे कामयाब

पाकिस्तान की ओर इशारा करते हुए सिंह ने कहा, ‘‘जहां तक हमारे पड़ोसी देश की बात आती है, आपको पता है वह भारत को अस्थिर करने और तोड़ने के लिए लगातार नापाक हरकतें कर रहा है.'' उन्होंने कहा, ‘‘मैं पूरे यकीन के साथ कह सकता हूं कि समुद्री सुरक्षा के लिए यहां हमारी भारतीय नौसेना दृढ़ एवं चौकस है. इसमें तनिक भी संदेह नहीं है.'' उन्होंने साथ ही कहा कि मुम्बई जैसा हमला दोबारा नहीं होने देंगे. सिंह ने कहा, ‘‘हम 26/11 हमले (मुम्बई आतंकवादी हमला) को भूल नहीं सकते. अगर कोई गलती एक बार हुई है, तो वह किसी कीमत पर दोबारा नहीं होनी चाहिए. इसलिए हमारी भारतीय नौसेना और तट रक्षक हमेशा सतर्क रहते हैं.''

टिप्पणियां

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले, भारत के तट क्षेत्रों में आतंकी हमले से इनकार नहीं किया जा सकता

पुलवामा में आतंवादियों के फिर घुस आने के सेना प्रमुख के बयान पर सिंह ने कहा, ‘‘यह किसी को बताने की जरूरत नहीं है कि आतंकवादियों का क्या हाल किया जाएगा.'' रक्षा मंत्री ने कहा कि न केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया को पता है कि आतंकवादियों का क्या होगा. सिंह ने रविवार सुबह विमान वाहक पर योग भी किया. उन्होंने कहा कि केवल भारत में ही नहीं बल्कि दुनिया भर में लोगों ने योग को अपनाया है. उन्होंने कहा, ‘‘उसे (योग) अंतरराष्ट्रीय पहचान मिली है और इसका श्रेय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को जाता है.'' रक्षा मंत्री ने कहा, ‘‘ उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के समक्ष (योग पर) प्रस्ताव पेश किया और इसका 177 देशों ने समर्थन किया.'' (इनपुट भाषा से भी)
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement