NDTV Khabar

बीजेपी के इन बडे़ नेताओं ने क्या 'चौकीदार' मुहिम से बनाई दूरी? Twitter हैंडल पर नहीं दिखा असर

पीएम मोदी(PM Modi) और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह(Amit Shah) ने ट्विटर हैंडल पर नाम के आगे चौकीदार Chowkidar जोड़ने की मुहिम चलाई. तमाम मंत्रियों ने कुछ ही समय में यह कर दिखाया तो कई वरिष्ठ मंत्रियों के ट्विटर हैंडल पर इस मुहिम का असर नहीं देखने को मिला.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी के इन बडे़ नेताओं ने क्या 'चौकीदार' मुहिम से बनाई दूरी? Twitter हैंडल पर नहीं दिखा असर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर हैंडल पर नाम के आगे चौकीदार जोड़ने की मुहिम शुरू की.

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को करीब 11 बजे अपने ट्विटर हैंडल में नाम के आगे चौकीदार जोड़ा.बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी यही किया. इसके बाद सोशल मीडिया पर केंद्रीय मंत्रियों और पार्टी समर्थकों के बीच नाम के आगे चौकीदार लगाने की होड़ मच गई. यह सब पीएम मोदी की ओर से लॉन्च मैं भी चौकीदार हूं कैंपेन के तहत किया गया. जब मोदी कैबिनेट में शामिल पीयूष गोयल, थावर चंद गहलौत, स्मृति ईरानी सहित तमाम मंत्री नाम के आगे चौकीदार लगाने में जुटे थे, तब देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और निर्मला सीतारमण जैसे प्रमुख मंत्रियों इस मुहिम से दूर दिखे. रविवार को साढ़े तीन बजे तक इन प्रमुख मंत्रियों के ट्विटर हैंडल को देखने पर पता चला कि इन्होंने नाम के आगे चौकीदार नहीं लगाया था. नाम में चौकीदार लगाने की मुहिम दिन में 11 बजे से शुरू हुई. करीब घंटे भर के भीतर कुछ वरिष्ठ मंत्रियों को छोड़कर सभी ने लगा लिया था. अरुण जेटली और नितिन गडकरी ने पहले तो नहीं लगाया, मगर शाम को चार बजे तक उन्होंने भी चौकीदार जोड़ लिया था. सवाल उठता है क्या वाजपेयी के जमाने से ही बीजेपी में अहम पहचान रखने वाले और मोदी कैबिनेट के कई मंत्रियों से सीनियर ये नेता इस चौकीदार मुहिम से इत्तफाक नहीं रखते या फिर वह भी देर-सबेर नाम के आगे चौकीदार जोड़ते हैं. इसको लेकर बीजेपी के अंदरखाने भी चर्चा है. 

यह भी पढ़ें- राहुल गांधी के 'चौकीदार चोर है' का जवाब देने के लिए PM मोदी-शाह ने खेला दांव, यहां बने 'चौकीदार'


राहुल के 'चौकीदार चोर है' का जवाब
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपनी रैलियों में चौकीदार चोर है का नारा बुलंद करते रहे हैं. पीएम मोदी ने हमेशा की तरह अपने ऊपर फेंके पत्थरों से ही रास्ता बनाने की रणनीति का इस्तेमाल करते हुए चौकीदार शब्द को ही लपक कर मैं भी चौकीदार कैंपेन बीते दिनों लांच किया.कैंपेन शुरू होने के दो दिन बाद रविवार को  पीएम मोदी ने ट्विटर हैंडल पर नाम के साथ चौकीदार भी लगाने की शुरुआत की. इससे पूर्व पीए मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो जारी कर 'मैं भी चौकीदार' (Main Bhi Chowkidar) से चुनावी मुहिम की शुरुआत की है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो के साथ अपने ट्वीट में कहा, ‘आपका यह चौकीदार राष्ट्र की सेवा में मजबूती से खड़ा है, लेकिन मैं अकेला नहीं हूं'. उन्होंने कहा कि हर कोई जो भ्रष्टाचार, गंदगी, सामाजिक बुराइयों से लड़ा रहा है, वह एक चौकीदार है. मोदी ने कहा कि हर कोई जो भारत की प्रगति के लिये कठिन परिश्रम कर रहा है, वह एक चौकीदार है. 2014 के लोकसभा चुनाव में मणिशंकर अय्यर के ‘चायवाला' टिप्पणी को भी भाजपा ने चुनाव अभियान का हिस्सा बनाया था. गौरतलब है कि पीएम मोदी 31 मार्च को देशवासियों को संबोधित करेंगे. इसके अलावा नरेन्द्र मोदी एप पर ‘मैं भी चौकीदार' अभियान के तहत संकल्प लेने की मुहिम शुरू की गयी है. आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव के लिए मतदान 11 अप्रैल से शुरू होगा। सात चरणों में होने वाला यह मतदान 19 मई को खत्म होगा। चुनाव परिणाम 23 मई को आयेंगे. 

तो बग्गा का रहा आइडिया
कहा जा रहा है कि नाम के आगे चौकीदार लगाकर मैं भी चौकीदार मुहिम को धार देने का आइडिया तेजिंदर सिंह बग्गा का रहा. उन्होंने ही सबसे पहले 15 मार्च को नाम के आगे अपने चौकीदार लगाकर सपोर्टर्स से अपील की. यह मुहिम रविवार को परवान चढ़ गई, जब खुद पीएम मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने भी अपने नाम के आगे चौकीदार लगा लिया. 

टिप्पणियां

यह भी पढ़ें- Twitter : पीएम मोदी-अमित शाह ने नाम के आगे लगाया 'चौकीदार'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement