NDTV Khabar

संसद का बजट सत्र: राज्यसभा में 10 दिन बैठे सांसद, मगर दो घंटे ही हुआ काम

31 जनवरी से 13 फरवरी तक चले संसद के बजट सत्र में राज्यसभा दस दिन बैठी लेकिन महज़ दो घंटे ही काम हो पाया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
संसद का बजट सत्र: राज्यसभा में 10 दिन बैठे सांसद, मगर दो घंटे ही हुआ काम

राज्यसभा (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

मोदी सरकार के कार्यकाल में संसद के दोनों सदनों की बैठक बुधवार को अनिश्वित काल के लिये स्थगित कर दी गई. 31 जनवरी से 13 फरवरी तक चले संसद के बजट सत्र में राज्यसभा दस दिन बैठी लेकिन महज़ दो घंटे ही काम हो पाया. कुल 44 घंटे बर्बाद हो गए. संसद के आखिरी बजट सत्र में उम्मीद थी कि कई बिल पास होंगे, मगर अपेक्षा के अनुरूप ऐसा नहीं हो पाया और इस तरह से राज्यसभा की कार्यवाही भी हंगामे की भेंट चढ़ता चला गया. 

राफेल डील : राज्यसभा में पेश हुई CAG रिपोर्ट, पिछली डील से बताया बेहतर, कहा- 17.08 फीसदी रकम बचाई

बजट सत्र के दौरान राज्यसभा में 6 सरकारी बिल पेश किए गए जिनमें से 5 पास किए गए या वापस किए गए. लेकिन जनता से जुड़े मामलों पर न कोई छोटी अवधि की चर्चा हुई, ना ध्यान दिलाया गया और न ही स्पेशल मेंशन हुआ. हालांकि स्पीकर की इजाज़त से 16 ऐसे मसले ज़रूर सदन में उठाए गए. जिन विषयों पर हंगामे की वजह से 44 घंटे बर्बाद हुए. ये विषय हैं- पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश में CBI का दुरूपयोग, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में 200 पॉइंट रोस्टर सिस्टम, राफेल डील, कर्नाटक में विधायकों की खरीद-फरोख्त, आंध्र प्रदेश के लिए विशेष राज्य का दर्जा, NRC और पूर्वोत्तर में सिटिज़नशिप बिल को लेकर विरोध प्रदर्शन और उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में ज़हरीली शराब पीने से मौतें आदि.  


संसद: राज्यसभा अनिश्चितकाल के लिए स्थगित, पेश नहीं हो सके तीन तलाक और नागरिकता संशोधन बिल

राज्यसभा के कार्यवाही का आलम यह रहा कि राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव भी बिना किसी चर्चा के अडॉप्ट कर लिया गया. बता दें कि संसद के दोनों सदनों की बैठक बुधवार को अनिश्वित काल के लिये स्थगित कर दी गई. संसद सत्र 31 जनवरी को शुरू हुआ था और बुधवार को लोकसभा और राज्यसभा दोनों की बैठक अनिश्चित काल के लिए स्थगित हो गयी. 

अगर नागरिकता संशोधन विधेयक राज्यसभा में हुआ पास तो एनडीए का साथ छोड़ देगा यह 'दल'

टिप्पणियां

16वीं लोकसभा के दौरान सदन की कुल 331 बैठकें हुईं. 18 मई 2014 को 16वीं लोकसभा के गठन से लेकर अब तक सदन में कुल 219 विधेयक पेश किये गये, 205 सरकारी विधेयकों को सदन ने मंजूरी दी और नौ सरकारी विधेयक वापस लिये गये. सोलहवीं लोकसभा में सदन में सुचारू कामकाज के लिए स्पीकर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, सभी विपक्षी दलों के नेताओं, संसदीय कार्य मंत्री, लोकसभा महासचिव और सचिवालय के अधिकारियों और कर्मचारियों आदि का आभार व्यक्त किया. वंदे मातरम की धुन बजाए जाने के बाद राज्यसभा में सभापति और लोकसभा में स्पीकर ने बैठक को अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया. 

VIDEO- राफेल: 'ऐंटी करप्शन क्लॉज़ क्यों हटाए गए'


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement