NDTV Khabar

अहमद पटेल को राज्यसभा पहुंचाने में जुटी कांग्रेस, राह में रोड़े भी कम नहीं, 4 खास बातें

बेंगलुरु के रिजॉर्ट में गुजरात कांग्रेस के 44 विधायक टिके हुए हैं. कांग्रेस की दलील है कि राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस नेता अहमद पटेल को हराने के लिए बीजेपी इन विधायकों को तोड़ने की तिकड़म में है.

490 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
अहमद पटेल को राज्यसभा पहुंचाने में जुटी कांग्रेस, राह में रोड़े भी कम नहीं, 4 खास बातें

अहमद पटेल के लिए राज्यसभा की राह चुनौतियों से भरी

खास बातें

  1. 44 विधायकों के साथ बेंगलुरु के रिजॉर्ट में कांग्रेस
  2. बीजेपी पर लगाया विधायकों को तोड़ने का आरोप
  3. कांग्रेस का आरोप- बीजेपी दे रही है 15 करोड़ की ऑफर
अहमदाबाद: गुजरात कांग्रेस इन दिनों बड़े उथल-पुथल के दौर से गुजर रही है. छह विधायक पहले ही पार्टी का दामन छोड़ चुके हैं. बाक़ी बचे विधायक भी राज्यसभा चुनाव में पाला न बदल लें, इस डर से कांग्रेस अपने विधायकों को बेंगलुरु के रिसॉर्ट में रखे हुई है. अगर इनमें से कुछ और विधायकों ने पाला बदला तो सबसे ज्यादा नुकसान सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल को होगा. उनके राज्यसभा जाने की राह लगभग असंभव हो जाएगी. ऐसे वक्त में जब गुजरात बाढ़ की मार झेल रहा हो तब कांग्रेस विधायकों का प्रदेश से बाहर होने पर भी सवाल उठ रहे हैं. अहमद पटेल की हार को पचा पाना कांग्रेस के लिए मुश्किल होगा. इसके लिए कांग्रेस पूरी कोशिश कर रहा है. अहमद पटेल की हार सोनिया गांधी की हार होगी. क्योंकि 2001 से अहमद पटेल सोनिया गांधी के राजनैतिक सचिव हैं. वह सोनिया गांधी के राजनैतिक फैसलों में भूमिका निभाते हैं. 

पढ़ें: गुजरात कांग्रेस संकट के पीछे मेरा हाथ नहीं, मेरा वोट अहमद पटेल को जाएगा : वाघेला

जीत पाएंगे राज्यसभा चुनाव?
क्या कांग्रेस नेता अहमद पटेल राज्यसभा का चुनाव जीत पाएंगे, ये सवाल कांग्रेस को गुजरात से लेकर दिल्ली तक परेशान कर रहा है. 6 कांग्रेस विधायकों ने इस्तीफ़ा दे दिया है, जिसके बाद कांग्रेस ने चुनाव आयोग से राज्य सरकार द्वारा अपने विधायकों को डराने धमकाने की शिकायत भी की है. वहीं कांग्रेस अपने 44 विधायकों को लेकर बेंगलुरु में डेरा डाले हुए है. इन सबके बीच सवाल उठ रहे हैं कि जब गुजरात में बाढ़ का कहर है, ऐसे हालात में विधायक रिजॉर्ट में क्यों हैं?

पढ़ें: गुजरात संकट पर चुनाव आयोग पहुंची कांग्रेस, मुख्य सचिव से जवाब तलब...​

बीजेपी विधायकों को तोड़ने की तिकड़म में : कांग्रेस
बेंगलुरु के रिजॉर्ट में गुजरात कांग्रेस के 44 विधायक टिके हुए हैं. कांग्रेस की दलील है कि राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस नेता अहमद पटेल को हराने के लिए बीजेपी इन विधायकों को तोड़ने की तिकड़म में है. यही वजह है कि उन्हें अहमदाबाद से दूर यहां लाया गया है. रविवार को कांग्रेस नेता शक्ति सिंह गोहिल इन विधायकों को मीडिया के सामने लाए. उन्होंने दावा किया कि बीजेपी विधायकों को 15-15 करोड़ रुपये तक का लालच दे रही है.

बाढ़ से बेहाल है गुजरात
इस बीच ये सवाल उठे हैं कि जब गुजरात बाढ़ से बेहाल है तो कांग्रेस के विधायक अपने इलाकों से दूर इस रिजॉर्ट में क्यों हैं. इस पर कांग्रेस विधायकों की दलील है कि 24 से 26 जुलाई तक वो अपने इलाकों में बाढ़ प्रभावित इलाकों में ही काम कर रहे थे, लेकिन फिलहाल सियासी हालात के आगे मजबूर हैं. इस बीच बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने इस मुद्दे का भी ज़िक्र किया और कहा कि कांग्रेस ने बेंगलुरु ले जाए गए विधायकों के मोबाइल फोन तक जमा करा लिए हैं. बेंगलुरु में शक्ति सिंह गोहिल ने मोबाइल जमा कराने जैसे सारे आरोपों से इनकार किया. इस बीच कांग्रेस छोड़ चुके शंकर सिंह वाघेला ने भी बाढ़ के हालात में कांग्रेस विधायकों के बेंगलुरु में होने पर सवाल उठाए.

छह विधायकों ने दिया इस्तीफा
दरअसल गुजरात में कांग्रेस के 57 विधायक हैं, जिनमें से छह ने इस्तीफ़ा दे दिया है और इनमें से 3 बीजेपी में शामिल भी हो चुके हैं, 7 अन्य विधायक हैं जो बेंगलुरु नहीं गए हैं, लेकिन उन्होंने कांग्रेस भी नहीं छोड़ी है. इन विधायकों को लेकर कयासों का दौर जारी है. अहमद पटेल को राज्यसभा चुनाव जीतने के लिए 45 वोटों की दरकार है और उसके पास फिलहाल 44 वोट हैं, लेकिन चुनाव तक कहीं ये वोट खिसक ना जाएं इसकी चिंता ने कांग्रेस की दिन रात की नींद ख़राब की हुई है.


1.अहमद पटेल की राह
  • कांग्रेस के 57 विधायक थे
  • 6 विधायकों का इस्तीफ़ा, अब 51 विधायक
  • जीत के लिए 45 विधायक ज़रूरी
  • अगर हालात ऐसे ही रहते हैं तो अहमद पटेल आसानी से राज्यसभा पहुंच जाएंगे

2.ये है अहमद पटेल की मुश्किल
  • अमित शाह हमारी पार्टी तोड़ रहे हैं: कांग्रेस
  • 16 और विधायकों को तोड़ने की कोशिश
  • 16 और टूटे तो कांग्रेस के 35 विधायक 
  • ऐसे में विधानसभा में 182 की जगह 160 सदस्य
  • ऐसे में जीत के लिए 40 विधायक ज़रूरी
  • विधानसभा में बीजेपी के 121 सदस्य
  • बीजेपी के तीनों उम्मीदवारों की जीत पक्की
  • अहमद पटेल की हार हो जाएगी
  • अगर कांग्रेस के 35 विधायक रह गए तो अहमद पटेल राज्यसभा नहीं पहुंच पाएंगे

3.कौन बदलेगा पाला?
  • 7 विधायक: ना इस्तीफ़ा दिया, ना बेंगलुरु गए
  • बेंगलुरु में कुछ वाघेला समर्थक भी: सूत्र
  • वाघेला समर्थक कभी भी बदल सकते हैं पाला

4.अहमद पटेल की हार के मायने
  • ये सोनिया गांधी की बड़ी हार होगी
  • 2001 से सोनिया के राजनैतिक सचिव हैं
  • सोनिया के राजनैतिक फ़ैसलों में भूमिका



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement