NDTV Khabar

जम्मू कश्मीर पहुंचे बीजेपी नेता राम माधव का बड़ा बयान, कश्मीर की शांति में बाधा डालेगा उसे भेजेंगे जेल

अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को खत्म किये जाने के बाद पहली बार घाटी के दौरे पर आये माधव ने कहा कि अगर 200 से 300 लोगों को शांति और विकास हासिल करने के लिए जेल में रखना पड़े 'तो हम उन्हें रखेंगे.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू कश्मीर पहुंचे बीजेपी नेता राम माधव का बड़ा बयान, कश्मीर की शांति में बाधा डालेगा उसे भेजेंगे जेल

कुछ नेता जेल में बैठकर यह संदेश भेज रहे हैं कि लोग बंदूक उठाकर शहादत देंगे- राम माधव

श्रीनगर :

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने रविवार को श्रीनगर में कहा कि अनुच्छेद 370 के प्रावधान समाप्त होने के बाद जम्मू-कश्मीर शांति और विकास के मार्ग पर आगे बढ़ रहा है और जो भी इसके रास्ते में बाधा पैदा करने का प्रयास करेगा, उससे कड़ाई से निपटा जाएगा. माधव ने कहा, 'अभी तक कश्मीर में सिर्फ कुछ परिवारों या कुछ नेताओं के लिए काम किया जाता था, लेकिन अब जो कुछ हो रहा है, वह इस राज्य के लाखों परिवारों के लिए... आम कश्मीरियों के लिए हो रहा है.' उन्होंने कहा, 'जम्मू कश्मीर के लिए अब दो ही मार्ग होंगे.. शांति एवं विकास, और जो कोई इसके बीच में आएगा, उससे कड़ाई से निपटा जाएगा. उनके लिए भारत में कई जेल हैं.'

अपनी ही बहन पंकजा मुंडे पर अश्लील टिप्पणी करने के लिए धनजंय मुंडे के खिलाफ FIR दर्ज


बीजेपी नेता यहां टैगोर हॉल में पार्टी की युवा इकाई के एक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे, जो अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को समाप्त किये जाने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के बाद से पहला राजनीतिक कार्यक्रम था. उन्होंने नेताओं से कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों का अपने राजनीतिक लाभ के लिए इस्तेमाल न करें. अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को खत्म किये जाने के बाद पहली बार घाटी के दौरे पर आये माधव ने कहा कि अगर 200 से 300 लोगों को शांति और विकास हासिल करने के लिए जेल में रखना पड़े 'तो हम उन्हें रखेंगे.' उन्होंने कहा, 'आप शांति भंग किए बिना भी अपनी राजनीति कर सकते हैं. कुछ नेता जेल में बैठकर यह संदेश भेज रहे हैं कि लोग बंदूक उठाकर शहादत देंगे. मैं उन नेताओं से कहना चाहता हूं कि पहले स्वयं आगे आकर शहादत दें.'

योगी सरकार पर बरसीं प्रियंका गांधी, कहा- अपराध रोकने में पूरी तरह फेल

उन्होंने कहा, 'यहां पर नेता आम लोगों को अपनी राजनीति के लिए इस्तेमाल कर रहे थे और आम जनता का इस्तेमाल किया जा रहा था. अब हम इस तरह की राजनीति नहीं होने देंगे. हम विकास की राजनीति चाहते हैं और भ्रष्टाचार का यहां से पूरी तरह से उन्मूलन होगा.' भाजपा नेता ने कश्मीर के लोगों की नौकरी या जमीन गंवाने संबंधी आशंका को लेकर भरोसा देते हुए कहा कि यहां नई नौकरियों और मौकों का निर्माण किया जाएगा. सभी तरह का ऐहतियात बरता जाएगा ताकि जम्मू कश्मीर की पहचान, संस्कृति, नौकरी और शिक्षा को कोई नुकसान नहीं हो.'

बीजेपी के पूर्व विधायक की बेटी ने लगाया था मानसिक उत्पीड़न का आरोप, अब पिता ने कही ये बात

उन्होंने किसी का नाम लिये बिना कहा, 'आप किससे भयभीत हैं, जब सभी (प्रधानमंत्री नरेंद्र) मोदी से भयभीत हैं. वे कागज के शेर हैं और मुझे पता कि उनमें कितना साहस है. उन्हें जब कोई फोन कॉल आता है तो वे कांपने लगते हैं.' माधव ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें नहीं पता कि अपने देश को कैसे संभालना है लेकिन वह अक्सर कश्मीर के बारे में बातें करते हैं. उन्होंने कहा, 'इमरान खान दिन में एक या दो बार कश्मीर का मुद्दा उठाते हैं. उन्हें नहीं पता कि अपने देश को कैसे संभालना है और वह एफएटीएफ प्रतिबंधों से बाल-बाल बचे हैं. वह सीमापार से गोलीबारी या आतंकवाद के लिए जो कोई भी प्रयास करेंगे, हमारे सुरक्षा बल उससे निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं.'

टिप्पणियां

चुनाव से एक दिन पहले BJP विधायक का VIDEO वायरल- वोट कहीं भी डालोगे जाएगा 'कमल' को, 'हमने मशीन में...'

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि देश के लोग कश्मीरियों को गले लगाने के लिए तैयार हैं और उन्हें शांति बनाये रखना चाहिए., उन्होंने कहा, 'मैं जहां भी जाता हूं, मैं कहता हूं कि कश्मीर के लिए जो कुछ भी किया जाना था, वह मोदी द्वारा किया गया है और अब पूरे भारत के लोगों को कश्मीरियों को गले लगाना है. हम बीजेपी में जब कहते थे कि कश्मीर हमारा है, इसका यह मतलब नहीं था कि कश्मीर की जमीन हमारी है, बल्कि यह था कि प्रत्येक कश्मीरी हमारा है. पूरा भारत इसका आपको भरोसा देने के लिए तैयार हैं.' उन्होंने कहा,'जब शांति होगी, यहां पर्यटन बढ़ेगा. मैं सभी जगह लोगों से कहता हूं कि यदि आपको छुट्टी मनाने के लिए जाना है तो कश्मीर जाइये. पूरा देश कश्मीर को गले लगाने के लिए तैयार है और जम्मू कश्मीर के लोगों को केवल उनका स्वागत करने का निर्णय करना है और यहां शांति बनाये रखनी है.'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement