NDTV Khabar

राम रहीम के डेरे में होती थी लाशों की खरीद-बिक्री, भक्त की मौत पर होता था 'सौदा'

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सिरसा स्थित डेरे में जांच के दौरान पाया कि यहां मरने वाले 14 अनुयायियों के शव को लखनऊ के एक निजी मेडिकल कॉलेज में अवैध तरीके से भेजा गया था.

2.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
राम रहीम के डेरे में होती थी लाशों की खरीद-बिक्री, भक्त की मौत पर होता था 'सौदा'

हाई कोर्ट के आदेश पर गुरमीत राम रहीम के डेरे की तलाशी की जा रही है.

खास बातें

  1. राम रहीम के डेरे की तलाशी में कई बड़े खुलासे
  2. यहां मरने वाले शवों को निजी अस्पतालों में बेचा जाता
  3. अंगदान के नाम पर शवों की होती खरीद-फरोख्त
सिरसा: डेरा सौचा सौदा के सिरसा स्थित मुख्यालय में कोर्ट के आदेश पर की जा रही तलाशी में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. जांच में पता चला है कि डेरा के अंदर चल रहे अस्पताल में अवैध तरीके से स्किन बैंक चल रहा था. इसके अलावा पता चला है है कि अंगदान के लिए यहां से शवों को दूसरे अस्पतालों में भेजा जाता था. हरियाणा सरकार के पीआरओ सतीश मेहरा ने बताया कि डेरा के अंदर मौजूद अस्पताल में जब राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची तो कई अवैध मामले सामने आए. यहां बिना लाइसेंस के स्किन बैंक चले रहे थे. साथ ही यहां से शवों और अंगों को दूसरे अस्पतालों को मुहैया कराया जाता था. इसका कोई रिकॉर्ड मेंटेंन नहीं किया जा रहा था. उन्होंने बताया कि अंगदान से जुड़े दस्तावेज नहीं होने के चलते डेरा के अस्पताल के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: Exclusive : गुरमीत राम रहीम के डेरा सच्चा सौदा के भीतर बहुत कुछ ऐसा है जो चौंका देगा

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जांच में पाया कि डेरे के अंदर मरने वाले 14 अनुयायियों के शव को लखनऊ के एक निजी मेडिकल कॉलेज में अवैध तरीके से भेजा गया था. सभी 14 शव लखनऊ के जीसीआरजी इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज में भेजे गए थे. इन शवों के साथ न कोई डेथ सर्टिफिकेट था और न ही सरकार की अनुमति का पत्र. मार्च से लेकर जून तक ये मृत शरीर यहां लाए गए थे. पुलिस मामला दर्ज़ कर जांच में जुटी है.

ये भी पढ़ें: राम रहीम की गुफा से साध्वियों के ठिकाने तक जाने वाली सुरंग का पता चला

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मेडिकल टर्मिनेंशन ऑफ प्रेग्‍नेंसी एक्‍ट का भी अस्‍पताल में उल्‍लंघन हुआ है. इन तमाम मामलों में संबंधित धाराओं कें तहत मुकदमा दर्ज किया जाएगा. अधिकारियों ने बताया कि अस्पताल में मरीजों के मरने के बाद उसकी चमरियां निकाली जाती थी. जिसे प्रिजर्व करके रखा जाता था. इसका कोई लाइसेंस नहीं है. अंगदान के नाम पर वहां से जो डेड बॉडी कई अस्पताल में भेजे जाते थे, उसका कोई भी दस्तावेज मौजूद नहीं है.

VIDEO:राम रहीम के डेरे में चल रहा था स्किन बैंक

स्किन बैंक के बारे में पुलिस को कोई अंदेशा भी नहीं था, क्योंकि 2007 के बाद से पुलिस डेरे के अंदर नहीं गई थी. डेरे के अंदर ही अस्पताल में स्किन बैंक, बोन बैंक, ब्लड बैंक भी है. साथ ही दूसरे दिन तलाशी के दौरान 350 लाठी, डंडे, और रॉड की बरामदगी हुई है. इसके साथ-साथ लैपटॉप, हार्ड ड्राइव और पेनड्राइव भी बरामद किए गए हैं, जिनकी जांच चल रही है.


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement