पीएम नरेंद्र मोदी के मन की बात पहुंची रामविलास पासवान के कानों में, उन्होंने उठाया यह कदम

पीएम नरेंद्र मोदी के मन की बात पहुंची रामविलास पासवान के कानों में, उन्होंने उठाया यह कदम

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान.

खास बातें

  • मन की बात कार्यक्रम में होटल और रेस्टोरेंट में खाने की बरबादी
  • एनडीए सरकार होटलों और रेस्टोरेंटों में खाने की सीमा तय करने जा रही है
  • अगर कोई दो इडली खाता है तो उसे चार इडली क्यों परोसी जाए
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम में होटल और रेस्टोरेंट में खाने की बरबादी की बारे में चिंता ज़ाहिर की थी. ऐसे में अब एनडीए सरकार होटलों और रेस्टोरेंटों में खाने की सीमा तय करने जा रही है.

उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान का कहना है कि अगर कोई दो इडली खाता है तो उसे चार इडली क्यों परोसी जाए. ये भोजन और पैसों दोनों की बरबादी है.

एनडीटीवी से बातचीत में रामविलास पासवान ने कहा कि सरकार इस दिशा में कदम उठाने पर विचार कर रही है ताकि खाना बरबाद न हो. उन्होंने कहा कि हमने देखा है खाने की बरबादी होती है. पासवान का दावा है कि सरकार जो भी कदम उठाएगी वह उपभोक्ताओं के हित में होगा.

पासवान का कहना है कि होटल यह तय करें कि एक पोर्शन में कितना खाना देंगे. इस सिलसिले में सरकार किसी कानून को बनाने की जल्दी में नहीं है. उन्होंने कहा सरकार की ऐसी मंशा है होटल इंडस्ट्री इस दिशा में खुद कदम उठाए. उन्होंने कहा कि मंत्रालय ने इंडस्ट्री से पूछा है कि वह ख़ुद कोई कदम उठाएंगे या फिर सरकार कानून बनाए.

पासवान ने कहा कि हम यह सब कंट्रोल नहीं करना चाहते. उन्होंने यह भी साफ किया कि इसका गलत अर्थ न निकाला जाए. उन्होंने कहा कि थाली में कितना खाना हो, ये हम नहीं कह रहे हैं. उन्होंने कहा कि जितना खाना थाली में रखो लिख दो.

 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com