NDTV Khabar

केंद्र सरकार जब पुनर्विचार याचिका दे रही है तो फिर भारत बंद का क्या मतलब है : राम विलास पासवान

SC-ST एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में आज कई दलित संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
केंद्र सरकार जब पुनर्विचार याचिका दे रही है तो फिर भारत बंद का क्या मतलब है : राम विलास पासवान

केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ( फाइल फोटो )

नई दिल्ली: एससी/एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट में बदलाव के खिलाफ दलित संगठनों की ओर से बुलाए गए बंद पर केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का कहना है कि जब जब केंद्र सरकार सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार अर्ज़ी दे रही है तो फिर इस बंद का मतलब क्या है. विपक्ष इस पर  राजनीति कर रहा है.कांग्रेस ने कभी बाबा साहब को भारत रत्न नहीं दिया लेकिन अब खुद को उनके अनुनायियों की तरह दिखा रही है.  वहीं बिहार से सांसद पप्पू यादव ने कहा है कि दलितों का इस्तेमाल करना बंद किया जाना चाहिए. उन्होंने सरकार से अपील करते हुए कहा कि इस पर अध्यादेश लाया जाना चाहिए.  गौरतलब है कि SC-ST एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में आज कई दलित संगठनों ने भारत बंद का आह्वान किया है. भारत बंद को कई राजनीतिक पार्टियों और कई संगठनों ने समर्थन भी दिया है. संगठनों की मांग है कि अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 में संशोधन को वापस लेकर एक्ट को पहले की तरह लागू किया जाए. 

भारत बंद : सीएम योगी आदित्यनाथ और सीएम शिवराज सिंह चौहान ने की शांति बनाए रखने की अपील

टिप्पणियां
दलित संगठनों के विरोध का सबसे अधिक असर पंजाब में देखने को मिला, जिसकी वजह से राज्य के सभी शिक्षण संस्थान, सार्वजनिक परिवहन को आज बंद रखा गया है. भारत बंद का असर कई राज्‍यों में देखने को मिल रहा है. बाजार बंद हैं तो प्रदर्शनकारियों ने रेल सेवा को सबसे ज्‍यादा प्रभावित किया है. इतना ही नहीं कहीं-कहीं पर प्रदर्शनकारी हिंसक हो गए है. वाहनों की तोड़फोड़ और आगजनी की घटनाएं सामने आईं हैं. हिंसा की घटनाएं पंजाब, राजस्‍थान, झारखंड, उत्‍तर-प्रदेश और मध्‍यप्रदेश तक पहुंच चुकी हैं. 
वीडियो : भारत बंद का असर


उत्तर प्रदेश के मेरठ में प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया. मेरठ में प्रदर्शनकारी हिंसक हो गए थे और कारों में आग लगा दी थी जबकि शांतिपूर्वक प्रदर्शन करने की बात कही गई थी. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement