NDTV Khabar

रामदास अठावले ने महाराष्ट्र के सियासी संकट पर जताई चिंता तो अमित शाह बोले Don't Worry...

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने आज संकेत दिए कि बीजेपी, महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ अपने रिश्तों को फिर से पटरी पर लौटाएगी और साथ ही राज्य में दोनों पार्टियां मिलकर सरकार का गठन करेंगी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रामदास अठावले ने महाराष्ट्र के सियासी संकट पर जताई चिंता तो अमित शाह बोले Don't Worry...

रामदास अठावले ने बीजेपी और शिवसेना को लेकर दिया बड़ा बयान

खास बातें

  1. महाराष्ट्र की स्थिति पर रामदास अठावले ने दिया बड़ा बयान
  2. बताया- अमित शाह ने सियासी संकट की स्थिति पर क्या कहा
  3. शिवसेना ने सीएम पद की मांग को लेकर बीजेपी से बना ली दूरी
मुंबई:

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने आज संकेत दिए कि बीजेपी, महाराष्ट्र में शिवसेना के साथ अपने रिश्तों को फिर से पटरी पर लौटाएगी और साथ ही राज्य में दोनों पार्टियां मिलकर सरकार का गठन करेंगी. केंद्रीय गृहमंत्री और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से अपनी बातचीत का जिक्र करते हुए रामदास आठवले ने कहा कि महाराष्ट्र में जल्द ही बीजेपी की सरकार बनेगी. आठवले ने कहा कि अमित शाह ने उनसे कहा है कि महाराष्ट्र में जल्द ही सब ठीक हो जाएगा. 

महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार की कवायद अंतिम चरण में, शिवसेना एक कदम और आगे बढ़ गई

समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए रामदास अठावले ने कहा, मैंने महाराष्ट्र के राजनीतिक संकट पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से बात की थी और उनसे कहा था कि अगर वह हस्तक्षेप करेंगे तो राज्य में कोई बीच का रास्ता जरूर निकल सकेगा. मेरे ऐसा कहने पर अमित शाह ने मुझसे कहा कि आप फिक्र मत करिए, जल्द ही सब ठीक हो जाएगा. बीजेपी और शिवसेना एक साथ आकर महाराष्ट्र में सरकार बनाएंगे. 


बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देने पहुंचे देवेंद्र फडणवीस, शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने लगाये नारे

वहीं पिछले हफ्ते महाराष्ट्र में चल रहे सियासी गतिरोध पर अमित शाह ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा था कि चुनाव के बाद शिवसेना गैर वाजिब मांग कर रही है जिसे स्वीकार नहीं किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि चुनाव की रैलियों में पीएम मोदी और मैंने कई बार कहा कि अगर महाराष्ट्र में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन जीत जाता है तो देवेंद्र फडणवीस ही मुख्यमंत्री होंगे उस वक्त किसी ने इस पर आपत्ति दर्ज नहीं कराई. उन्होंने कहा कि चुनाव के बाद अब शिवसेना नई मांग के साथ सामने आ गई है. जोकि स्वीकार नहीं है.  

संसद में विपक्ष में नजर आ सकती है शिवसेना, संजय राउत ने कहा-NDA की बैठक में भी नहीं लेंगे हिस्सा

टिप्पणियां

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे को लेकर पिछले कई दिनों से बने गतिरोध के बाद भाजपा और शिवसेना का दशकों साल पुराना गठबंधन चुनावों के बाद टूट गया था. सीएम पद की मांग के बाद दोनों दलों के रिश्ते बिगड़ गए थे जिसके बाद दोनों ही पार्टियों ने एक दूसरे से दूरी बना ली थी. अब रामदास अठावले के बयान के बाद सियासी गलियारों में नए सिरे से सुगबुगाहट शुरू हो गई है. 

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement