NDTV Khabar

रामजस कॉलेज विवाद : नॉर्थ कैंपस का माहौल गरमाया, AISA, NSUI का प्रदर्शन, 1000 पुलिसवाले तैनात

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रामजस कॉलेज विवाद : नॉर्थ कैंपस का माहौल गरमाया, AISA, NSUI का प्रदर्शन, 1000 पुलिसवाले तैनात

रामजस विवाद : नॉर्थ कैंपस का माहौल गरमाया

नई दिल्ली: रामजस कॉलेज विवाद के चलते दिल्ली में कई अलग-अलग कॉलेजों और विश्वविद्यालयों के छात्रों और शिक्षकों ने जुलूस निकाला है. डीयू बचाओ के नारे के साथ निकला यह जुलूस खालसा कॉलेज से शुरू होकर आर्ट्स फैकल्टी तक पहुंचा. जुलूस में डीयू और जेएनयू के अलावा आईपी यूनिवर्सिटी और अंबेडकर यूनिवर्सिटी के छात्र और शिक्षक भी शामिल हैं. पिछले दिनों रामजस कॉलेज में एक सेमिनार के दौरान एबीवीपी के हंगामे और उसके बाद एक प्रदर्शन के दौरान हिंसा के विरोध में यह जुलूस निकाला गया. इसके पहले सोमवार को ही एबीवीपी ने तिरंगा जुलूस निकाला था. आज छात्रों के इस प्रदर्शन को लेकर पुलिस ने सुरक्षा के बड़े प्रबंध किए. करीब हजार पुलिसवाले लगाए गए. पिछले दिनों छात्रों और शिक्षकों के साथ हुई हिंसा पर पुलिस का रवैया भी आलोचना के घेरे में रहा है. तीन पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई भी हुई थी. आज के जुलूस में डीयू शिक्षक संघ की अध्यक्ष नंदिता नारायण, और जेएनयू टीचर्स संघ की अध्यक्ष आयशा किदवई शामिल हैं. छात्र नेता कन्हैया कुमार भी नज़र आए.

वहीं गुरमेहर कौर की शिकायत पर केस दर्ज़ हो गया है. गुरमेहर ने मिल रही धमकियों का शिकायत की थी. सोशल साइट्स पर ये धमकियां मिल रही थीं. इस मामले की जांच साइबर सेल भी कर रही है.

टिप्पणियां
रामजस कॉलेज के सेमीनार में 21 तारीख को उमर खालिद और शेहला रशीद को बुलाए जाने पर एबीवीपी ने आपत्ति जताई थी और उसी के बाद हिंसा शुरू हो गई थी. कैंपस और खासकर राजमस कालेज में इसे लेकर तनाव बना हुआ है. पहले यह बात थी कि इस मार्च में गुरमेहर भी हिस्सा लेंगी, लेकिन अब उन्होंने इस मार्च से खुद को अलग कर लिया है लेकिन ट्वीट कर मार्च को अपना समर्थन दिया है.

क्या है गुरमेहर से जुड़ा मामला
गौरतलब है कि दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में एक सेमिनार को लेकर दो छात्र संगठनों के विवाद के बीच दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा ने आरोप लगाया था कि ABVP के विरोध में आवाज़ उठाने पर उसे सोशल मीडिया पर रेप की धमकी मिल रही है. NDTV के WE THE PEOPLE शो में शहीद की बेटी ने भावुक होते हुए कहा कि वह किसी पार्टी या विचारधारा के साथ नहीं है. लेकिन छात्रों के हक के लिए वह हमेशा लड़ती रहेगी. रामजस में हुई झड़प के बाद गुरमेहर कौर ने अपने फेसबुक पेज पर कुछ पोस्ट डाले थे, जिसमें उसके हाथ में ABVP के विरोध के बैनर थे. साथ ही लिखा था कि मेरे पिता को पाकिस्तान ने नहीं, युद्ध ने मारा है. छात्रा ने कहा कि मुझे सोशल मीडिया पर बहुत सारी धमकियां मिल रही हैं. मैंने जो प्रोफ़ाइल पिक्चर बदला है अगर आप उसे देखेंगे तो लोग मुझे धमकियां दे रहे हैं और देशद्रोही बता रहे हैं. जब लोग हिंसा या रेप की धमकी देते हैं तो यह बहुत डरावना होता है. राहुल नाम के एक शख़्स ने रेप को लेकर काफ़ी विस्तार से लिखा है जो कि बहुत भयावह है. देशभक्ति के नाम पर अपने देश की महिलाओं को रेप की धमकी देना बिल्कुल ग़लत है. आप ऐसा नहीं कर सकते हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement