NDTV Khabar

13 साल की उम्र में 13 किमी दूर पढ़ने जाते थे रामनाथ कोविंद, आग ने छीना था मां का साया

वह मूल रूप से कानपुर देहात की डेरापुर तहसील में स्थित परौख गांव से ताल्‍लुक रखते हैं.

85 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
13 साल की उम्र में 13 किमी दूर पढ़ने जाते थे रामनाथ कोविंद, आग ने छीना था मां का साया
देश के 14वें राष्‍ट्रपति बनने जा रहे रामनाथ कोविंद का बचपन बेहद गरीबी में बीता. वह मूल रूप से कानपुर देहात की डेरापुर तहसील में स्थित परौख गांव से ताल्‍लुक रखते हैं. यहां के ग्रामीणों के मुताबिक घास-फूस की झोपड़ी में उनका परिवार रहता था. कोविंद के साथ कक्षा आठ तक पढ़े उनके सहपाठी जसवंत ने NDTV को बताया कि जब उनकी उम्र 5-6 वर्ष की थी तो उनके घर में आग लग गई थी जिसमें उनकी मां की मौत हो गई थी. मां का साया छिनने के बाद उनके पिता ने ही उनका लालन-पालन किया.

गांव में अभी भी उनका दो कमरे का घर है जिसका इस्तेमाल सार्वजनिक काम के लिए होता है. ग्रामीणों के मुताबिक कोविंद 13 साल की उम्र में 13 किमी चलकर कानपुर पढ़ने जाते थे. कानपुर के कल्याणपुर स्थित महर्षि दयानन्द विहार कॉलोनी भी उनका घर है. जब उनकी उम्‍मीदवारी की घोषणा हुई थी तो यहां बड़ी संख्या में लोगों ने  सड़कों पर ढोल-नगाड़े बजाकर और आतिशबाजी के जरिये जश्‍न मनाया था.

यह भी पढ़ें -
LIVE: रामनाथ कोविंद होंगे देश के 14वें राष्ट्रपति, औपचारिक घोषणा 5 बजे होगी

रामनाथ कोविंद के गांव में जश्न, लोग गा रहे हैं- मेरे बाबा की भई सरकार
रामनाथ कोविंद का वकालत से सियासत तक का सफर - जानें 5 बातें​
राज्‍यसभा से इस्‍तीफा देने वालीं मायावती के खिलाफ जब रामनाथ कोविंद को खड़ा करना चा‍हती थी BJP
कानपुर से ग्राउंड रिपोर्ट : रामनाथ कोविंद के गांव में जश्न, लोग गा रहे हैं- मेरे बाबा की भई सरकार
राजनीति से हो गए रिटायर, वापसी कर सबसे कम उम्र में बने राष्‍ट्रपति
एकमात्र राष्‍ट्रपति जो दो बार पद पर रहे, ऐसी मिसाल पेश की जो बनी परंपरा

मिठाई से परहेज  
वर्ष 1996 से 2008 तक कोविंद के जनसंपर्क अधिकारी रहे अशोक द्विवेदी ने बताया था कि बेहद सामान्य पृष्ठभूमि वाले कोविंद अपनी कड़ी मेहनत और समर्पण के बल पर इस बुलंदी तक पहुंचे हैं. कोविंद की पसंद-नापसंद के बारे में उन्होंने बताया कि वह अंतर्मुखी स्वभाव के हैं और सादा जीवन जीने में विश्वास करते हैं. उन्हें सादा भोजन पसंद है और मिठाई से परहेज करते हैं.

वीडियो



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement