NDTV Khabar

21 तोपों की सलामी के बीच रामनाथ कोविंद संभालेंगे कामकाज, प्रणब मुखर्जी को इस तरह देंगे विदाई

सबसे पहले सुबह 10.30 बजे नवनिर्वाचित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देंगे.

315 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
21 तोपों की सलामी के बीच रामनाथ कोविंद संभालेंगे कामकाज, प्रणब मुखर्जी को इस तरह देंगे विदाई

रामनाथ कोविंद 14वें राष्‍ट्रपति के रूप में शपथ ग्रहण करेंगे.(फाइल फोटो)

खास बातें

  1. रामनाथ कोविंद 14वें राष्‍ट्रपति के रूप में लेंगे शपथ
  2. दोपहर 12:15 बजे होगा शपथ ग्रहण
  3. प्रणब मुखर्जी को विदा करने उनके घर जाएंगे
नई दिल्ली: रामनाथ कोविंद देश के 14वें राष्‍ट्रपति के रूप में मंगलवार को शपथ लेने जा रहे हैं. इस कड़ी में देश के चीफ जस्टिस जेएस खेहर संसद के सेंट्रल हॉल में उनको पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे. शपथ ग्रहण समारोह दोपहर 12:15 बजे शुरू होगा. इस समारोह में भाग लेने के लिए, राज्यसभा के सभापति, प्रधानमंत्री, भारत के मुख्य न्यायाधीश, लोकसभा अध्यक्ष, मंत्री परिषद के सदस्य, राज्‍यों के राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री, राजनयिक मिशनों के प्रमुख, तमाम सांसद और भारत सरकार के प्रमुख असैनिक और सैनिक अधिकारी केन्द्रीय हॉल में इकट्ठा होंगे. राष्ट्रपति और नव-निर्वाचित राष्ट्रपति गणमान्य व्यक्तियों के साथ सेंट्रल हॉल में पहुंचेंगे.

कोविंद जाएंगे राजघाट
सबसे पहले सुबह 10.30 बजे नवनिर्वाचित राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद राजघाट जाकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि देंगे. उसके बाद 11.15 बजे कोविंद राजघाट से सीधे राष्ट्रपति भवन में आकर प्रणब मुखर्जी से मिलेंगे. ये कार्यक्रम दरबार हॉल में होगा.

कोविंद और प्रणब एक साथ जाएंगे संसद
उसके बाद सुबह 11.45 बजे रामनाथ कोविंद और प्रणब मुखर्जी दोनों एक कार में सवार होकर राष्ट्रपति भवन से संसद के लिए रवाना होंगे. संसद के गेट नंबर पांच पर उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, लोकसभा अध्यक्ष और संसदीय कार्य मंत्री दोनों नेताओं की आगवानी करेंगे.

पढ़ें : रामनाथ कोविंद की बेटी कौन हैं, क्यों नहीं लगाती हैं पिता का सरनेम?
केंद्रीय हॉल में मंच पर पांच कुर्सियां होंगी, जिसमें बीच की कुर्सी पर राष्ट्रपति प्रणब  मुखर्जी बैठेंगे. दूसरी कुर्सी पर रामनाथ कोविंद और तीसरी पर मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहर बैठेंगे. बाकी दो कुर्सियों में से एक पर उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी और दूसरी पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन बैठेंगी.

शपथ ग्रहण
निर्धारित समयानुसार 12:15 बजे चीफ जस्टिस जेएस खेहर, रामनाथ कोविंद को शपथ दिलाएंगे. इसके बाद निवर्तमान राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी अपनी कुर्सी से उठेंगे और नए राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद को अपनी कुर्सी पर बैठाएंगे. इसके बाद प्रणब मुखर्जी उस कुर्सी पर बैठेंगे, जिस पर शपथ से पहले रामनाथ कोविंद बैठे थे.

शपथ ग्रहण समारोह के बाद प्रधानमंत्री और कैबिनेट के सभी सदस्य नये राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को बधाई देंगे. समारोह के बाद प्रणब मुखर्जी नए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति भवन तक छोड़ने जाएंगे.

यह भी पढ़ें-
रामनाथ कोविंद के गांव में जश्न, लोग गा रहे हैं- मेरे बाबा की भई सरकार
13 साल की उम्र में 13 किमी दूर पढ़ने जाते थे रामनाथ कोविंद

21 तोपों की सलामी
इसके बाद राष्‍ट्रपति बॉडीगार्ड की मौजूदगी में प्रसिद्ध बग्घी पर सवार होकर दोनों नेता राष्ट्रपति भवन पहुचेंगे. वहां नए राष्‍ट्रपति को गार्ड ऑफ ऑनर दिया जाएगा. यहां पर पहले से ही उपस्थित पूरी कैबिनेट नए राष्ट्रपति की आगवानी करेगी और उनको 21 तोपों की सलामी दी जाएगी. इसके बाद राष्‍ट्रपति अपना कार्यभार संभालेंगे. उसके बाद नए राष्‍ट्रपति अपना भाषण देंगे.

VIDEO: व्यक्तिगत रूप से यह मेरे लिए बहुत ही भावुक क्षण है - रामनाथ कोविंद

प्रणब मुखर्जी की विदाई
इसके बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद निवर्तमान राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी को उनके नए आवास 10 राजाजी मार्ग तक छोड़ने जाएंगे. इस बार कार में दोनों के बैठने की पोजीशन बदली हुई होगी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement