NDTV Khabar

रेप के आरोपी नित्यानंद ने घोषित किया अपना 'हिन्दू संप्रभु देश कैलाश' : रिपोर्ट

भगोड़े स्वयंभू बाबा नित्यानंद ने 'हिन्दू संप्रभु राष्ट्र' की घोषणा की है, और उनके पास अपने तथाकथित 'कैलाश' देश के लिए प्रधानमंत्री तथा मंत्रिमंडल भी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रेप के आरोपी नित्यानंद ने घोषित किया अपना 'हिन्दू संप्रभु देश कैलाश' : रिपोर्ट

भगोड़ा स्वयंभू बाबा नित्यानंद.

नई दिल्ली:

स्वयंभू बाबा नित्यानंद को अहमदाबाद स्थित उसके आश्रम के लिए अनुयायियों से चंदा एकत्र करने की खातिर बच्चों को कथित रूप से अगवा कर कैद में रखने के लिए गुजरात पुलिस तलाश कर रही है, और इसी समय Kailaasa.org नामक वेबसाइट सामने आई है, जिससे संकेत मिलते हैं कि नित्यानंद ने अपने नए देश की स्थापना कर दी है, जिसके लिए उसने नया ध्वज, नया संविधान तथा नया प्रतीक चिह्न भी तय कर लिया है.

वेबसाइट के अनुसार, भगोड़े स्वयंभू बाबा नित्यानंद ने 'हिन्दू संप्रभु राष्ट्र' की घोषणा की है, और उनके पास अपने तथाकथित 'कैलाश' देश के लिए प्रधानमंत्री तथा मंत्रिमंडल भी है. समाचार एजेंसी IANS के मुताबिक, वेबसाइट में देश के लिए चंदा देने का आह्वान भी किया गया है, जिसके ज़रिये चंदा देने वाले 'महानतम हिन्दू राष्ट्र' की नागरिकता पाने का अवसर हासिल कर सकते हैं.

नित्यानंद के आश्रम को जमीन पट्टे पर देने का मामला: CBSE ने स्कूल को जारी किया कारण बताओ नोटिस


साइबर विशेषज्ञों के अनुसार, इस वेबसाइट को 21 अक्टूबर, 2018 को बनाया गया था, और इसे आखिरी बार 10 अक्टूबर, 2019 को अपडेट किया गया था. वेबसाइट का रजिस्ट्रेशन पनामा में किया गया था, और इसका IP अमेरिका के डलास में स्थित है.

बहरहाल, फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि यह तथाकथित देश 'कैलाश' किस स्थान पर है, लेकिन वेबसाइट के अनुसार, 'कैलाश सीमारहित राष्ट्र है, जिसका निर्माण दुनियाभर में बेदखल कर दिए गए उन हिन्दुओं ने किया है, जो अपने-अपने देश में प्रामाणिक रूप से हिन्दुत्व का पालन करने का अधिकार गंवा चुके हैं...'

नित्यानंद के आश्रम से बचाई गई किशोरी ने बताए हैरान करने वाली सच्चाई, कहा- 'आधी रात में बनवाए जाते थे VIDEO'

वेबसाइट में कहा गया है, "कैलाश अभियान की शुरुआत संयुक्त राज्य अमेरिका में हुई, और इसकी अगुवाई वही हिन्दू आदि शैव अल्पसंख्यक समुदाय कर रहा है, जिसके लिए इसकी स्थापना हुई है, और यह समूची दुनिया के सताए हुए हिन्दुओं और हिन्दू बनने के इच्छुक लोगों के लिए सुरक्षित स्थान है, चाहे उनकी नस्ल, लिंग, समुदाय, जाति और पंथ कुछ भी हो, जहां वे शांति से रह सकते हैं, और निंदा, हस्तक्षेप व हिंसा से मुक्त रहते हुए अपनी आध्यात्मिकता, कला और संस्कृति को अभिव्यक्त कर सकते हैं..."

वेबसाइट के मुताबिक, इस हिन्दू राष्ट्र का अपना ध्वज भी है, जिसे 'ऋषभ ध्वज' के रूप में जाना जाता है, जिसमें भगवान शिव के वाहन नंदी के साथ स्वयं नित्यानंद भी मौजूद है. 'कैलाश' में कई सरकारी विभाग भी होंगे, जिनमें शिक्षा, वित्त, वाणिज्य आदि शामिल हैं. इनके अलावा 'कैलाश' में एक 'प्रबुद्ध नागरिकता विभाग' भी होगा, जो सनातन हिन्दू धर्म को पुनरुज्जीवित करने की दिशा में काम करेगा.

नित्यानंद के विदेश भागने की औपचारिक जानकारी से विदेश मंत्रालय ने किया इनकार

यह तथाकथित 'देश' अंततः 'धार्मिक अर्थव्यवस्था' लागू करने का दावा करता है, तथा इसमें हिन्दू निवेश एवं रिज़र्व बैंक भी होगा, जहां क्रिप्टोकरेंसी भी स्वीकार की जाएगी.

वेबसाइट में यह दावा भी किया गया है कि 'कैलाश' का अपना पासपोर्ट भी होगा, और कोई भी देश की नागरिकता के लिए आवेदन कर सकता है.

बच्चों को अगवा करने के मामले में स्वयंभू बाबा स्वामी नित्यानंद के खिलाफ FIR दर्ज

वेबसाइट में बताया गया है, "नागरिकों को कैलाश का पासपोर्ट दिया जाएगा, और परमशिव की कृपा से पासपोर्टधारक कैलाश सहित सभी 11 दिशाओं तथा 14 लोकों में निर्बाध प्रवेश पा सकेगा..."

टिप्पणियां

नित्यानंद पर अपनी पूर्व अनुयायी के साथ कथित रूप से बलात्कार करने का आरोप है. पिछले माह, गुजरात पुलिस ने उसकी दो सहयोगियों को गिरफ्तार किया था.

VIDEO: स्वामी नित्यानंद के खिलाफ मामला दर्ज, तलाश जारी



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


Advertisement