NDTV Khabar

जब राजनाथ सिंह बैठे ही रहे और गुस्‍से में महबूबा मुफ्ती ने प्रेस कांफ्रेंस खत्‍म करने की घोषणा कर दी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जब राजनाथ सिंह बैठे ही रहे और गुस्‍से में महबूबा मुफ्ती ने प्रेस कांफ्रेंस खत्‍म करने की घोषणा कर दी

महबूबा मुफ्ती का फाइल फोटो

खास बातें

  1. पत्रकारों के सवालों से वह झल्‍ला गईं
  2. राजनाथ ने अलगाववादियों से बातचीत का संकेत दिया
  3. पेलेट गन के विकल्‍प पर किया जा रहा विचार
श्रीनगर:

कश्‍मीर के दो दिवसीय दौरे पर आए गृह मंत्री राजनाथ सिंह की महबूबा मुफ्ती के साथ संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस एकाएक उस वक्‍त खत्‍म हो गई जब मुख्‍यमंत्री पत्रकारों के सवालों से झल्‍ला गईं और उन्‍होंने प्रेस कांफ्रेंस समाप्‍त करने की घोषणा कर दी, जबकि राजनाथ सिंह बैठे ही रहे.

इस दौरान राजनाथ सिंह मुस्‍कुराते रहे और मुख्‍यमंत्री को शांत करने की कोशिश भी करते दिखे. दरअसल महबूबा ने एकाएक सबका धन्‍यवाद करते हुए प्रेस कांफ्रेंस समाप्‍त की घोषणा की तो अगले कुछ क्षणों तक गृह मंत्री बैठे ही रहे.

उल्‍लेखनीय है कि कश्‍मीर में शांति बहाली के ताजा प्रयासों के बीच गृह मंत्री राजनाथ सिंह एक महीने के भीतर दोबारा कश्‍मीर दौरे पर हैं. कश्‍मीर में पिछले एक महीने से भी ज्‍यादा समय से जारी हिंसा में अब तक करीब 70 लोग मारे गए हैं.

राजनाथ सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस में शांति बहाली की अपील के साथ संकेत दिया कि सरकार अलगाववादियों से बातचीत की इच्‍छुक है और यह भी कहा कि सरकार पैलेट गन के विकल्‍प पर विचार कर रही है. उल्‍लेखनीय है कि हिंसक प्रदर्शनों के बीच सुरक्षा एजेंसियों की कार्रवाई में पैलेट गन के चलते बड़ी संख्‍या में लोग घायल हुए हैं.            


टिप्पणियां

जब राजनाथ सिंह से पूछा गया कि क्‍या पृथकतावादियों हुर्रियत नेताओं से सरकार बातचीत की इच्‍छुक है तो राजनाथ सिंह ने कहा, ''हम कश्‍मीरियत, जम्‍हूरियत और इंसानियत के दायरे में किसी से भी बातचीत के इच्‍छुक हैं.''

उन्‍होंने यह भी कहा कि एक ऑल पार्टी डेलीगेशन कश्‍मीर का दौरा करेगा. उल्‍लेखनीय है कि आठ जुलाई को सुरक्षा बलों से मुठभेड़ में हिजबुल मुजाहिदीन का आतंकी बुरहान वानी मारा गया था. उसके बाद से राज्‍य में हिंसा भड़क गई.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement