‘तांडव’ वेब सीरीज विवाद पर बोले रवि किशन- कृपया करोड़ों कमाने के लिए हमारे भगवान को ओछा न दिखाएं

बता दें कि, अमेजॉन प्राइम (Amazon Prime) की वेब सीरीज 'तांडव' (Tandav Web Series) पर विवाद इतना बढ़ गया है कि अब उत्तर प्रदेश की पुलिस इस मामले में फिल्म की पूरी टीम से पूछताछ करने के लिए 20 जनवरी से मुंबई पहुंची हुई है.

‘तांडव’ वेब सीरीज विवाद पर बोले रवि किशन- कृपया करोड़ों कमाने के लिए हमारे भगवान को ओछा न दिखाएं

अभिनेता और बीजेपी सांसद रवि किशन (फाइल फोटो)

मुंबई:

‘तांडव' वेब सीरीज (Tandav Web Series Controversy) पर मचे बवाल पर अभिनेता और गोरखपुर से बीजेपी सांसद रवि किशन (BJP MP Ravi Kishan) ने कहा है कि भगवान के लिए हमारे भगवान को छोड़ दो. रवि किशन ने कहा कि इससे हमें काफी पीड़ा होती है. अपने धंधे में करोड़ों रुपये कमाने के लिए कृपया हमारे भगवान को ओछा न दिखाएं. आप लोगों से हाथ जोड़कर निवेदन है. रवि किशन शनिवार को मुंबई में थे. वो मुंबई में आयोजित उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस समारोह में शामिल होने आए हुए थे. इस दौरान उन्हें ‘उत्तर प्रदेश गौरव सम्मान' से भी सम्मानित किया गया.

'तांडव' विवाद में मुंबई पहुंची UP पुलिस, वेब सीरीज़ से जुड़े लोगों से कर सकती है पूछताछ

बता दें कि, अमेजॉन प्राइम (Amazon Prime) की वेब सीरीज 'तांडव' (Tandav Web Series) पर विवाद इतना बढ़ गया है कि अब उत्तर प्रदेश की पुलिस इस मामले में फिल्म की पूरी टीम से पूछताछ करने के लिए 20 जनवरी से मुंबई पहुंची हुई है. इतना ही नहीं, यूपी पुलिस ने इस मामले में पूछताछ कर डायरेक्टर अली अब्बास जफर, लेखक गौरव सोलंकी और प्रोड्यूसर हिमांशु मेहरा का बयान दर्ज कर लिया है. इसके अलावा यूपी पुलिस अमेजॉन कंपनी के उन लोगों से भी पूछताछ करने की कोशिश कर रही है, जो इस फिल्म से जुड़े हुए हैं. हालांकि, बीकेसी में अमेजॉन कंपनी के ज्यादातर लोग वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं. इसलिए कंपनी के अधिकारियों का अभी तक बयान दर्ज नही हो पाया है.


लख़नऊ पुलिस ने मुंबई में तांडव वेब सीरीज के डायरेक्टर अली अब्बास जफर का बयान दर्ज किया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


तांडव वेब सीरीज की टीम को बॉम्बे हाईकोर्ट से ट्रांजिट ABA मिला हुआ है. वहीं इस मामले में यूपी पुलिस के एक दल ने गुरुवार को ‘तांडव' वेब सीरीज के निर्देशक अली अब्बास जफर के मुंबई स्थित आवास पर पहुंच कर उन्हें 27 जनवरी को लखनऊ में जांच अधिकारी के समक्ष पेश होने के लिए नोटिस भी दिया था.