NDTV Khabar

रविशंकर प्रसाद ने कहा- नीतीश कुमार को लोकतंत्र के लिए 'एसेट' मानतें हैं पीएम मोदी

रविशंकर प्रसाद ने कहा- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह राय उस समय जाहिर की थी जब नीतीश कुमार उनके विरोधी और महागठबंधन के नेता थे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रविशंकर प्रसाद ने कहा- नीतीश कुमार को लोकतंत्र के लिए 'एसेट' मानतें हैं पीएम मोदी

रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. प्रसाद ने पटना में एक निजी चैनल के कार्यक्रम में कही बात
  2. मोदी का मत- नीतीशजी भ्रष्टाचार विरोधी, राजनीति में पारदर्शिता के पक्षधर
  3. नीतीश ने कभी भ्रष्टचार के मुद्दे पर समझौता नहीं किया
पटना: केंद्रीय विधि मंत्री रविशंकर प्रसाद का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लोकतंत्र के लिए एसेट (धरोहर) मानते हैं. रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को पटना में एक निजी चैनल के कार्यक्रम में भाग लेते हुए यह बात कही. उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने यह बात उस समय कही थी जब नीतीश कुमार उनके विरोधी और महागठबंधन के नेता थे.

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि एक बार जब वे अपने विभाग के काम की चर्चा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास गए थे तब बिहार की चर्चा हुई. उस समय प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि रवि, नीतीशजी हमारे विरोधी जरूर हैं लेकिन वे हिंदुस्तान के लोकतंत्र के एक 'एसेट' हैं. रविशंकर के अनुसार प्रधानमंत्री ने इसके पीछे तर्क दिया कि नीतीशजी भ्रष्टाचार के विरोधी हैं, राजनीति में पारदर्शिता की बात करते हैं और उन्होंने कभी इस मुद्दे पर समझौता नहीं किया.

यह भी पढ़ें : नीतीश के जद यू को चुनाव आयोग से मिली मान्यता, तीर का निशान रहेगा बरकरार

हालांकि जब नीतीश कुमार ने महागठबंधन के नेता पद से इस्तीफा दिया था तब सबसे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट करके उनके कदम का स्वागत किया था. इससे उस समय भाजपा के नेताओं को पहली बार एहसास हुआ कि एक बार फिर भाजपा और नीतीश कुमार की पार्टी का तालमेल संभव है.

टिप्पणियां
VIDEO : नीतीश की शरद यादव को चुनौती 


चैनल के इसी कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने निजी क्षेत्र में आरक्षण के मुद्दे पर कहा कि इस पर उनकी राय उनकी पार्टी की लाइन होगी. चूंकी अब सरकारी नौकरियां बहुत ज्यादा नहीं होतीं इसलिए इस मुद्दे पर नीतीश कुमार द्वारा बहस की शुरुआत में उन्हें कोई खामी नजर नहीं आती.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement