Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, शेयरों में उछाल, बाजार में रौनक

ईमेल करें
टिप्पणियां
आरबीआई ने रेपो रेट घटाई, शेयरों में उछाल, बाजार में रौनक
नई दिल्ली: अगर आप घर या गाड़ी के लिए बैंक से लोन लेने की सोच रहे हों तो आपके लिए अच्छी ख़बर है। जल्द ही इन पर ब्याज़ दर कम होने की उम्मीद है। गुरुवार को आरबीआई ने रेपो रेट में 25 बेसिस अंकों की कटौती कर बैंकों को जो राहत दी है, उसका लाभ आम लोगों को भी मिलेगा।

फैसले के कुछ ही घंटे के अंदर यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया ने अपनी दरों में 0.25 प्रतिशत कटौती करने का ऐलान कर इस फायदे की शुरुआत कर दी। फिर यूनियन बैंक ने लोन की दर में 0.50 फीसदी कटौती की घोषणा कर दी। एचडीएफसी के सीईओ केकी मिस्त्री ने भी कहा कि ब्याज़ दरों में कटौती संभव है। उन्हें उम्मीद है कि आरबीआई इस साल रेपो रेट में एक फीसदी तक की कटौती कर सकता है।

लंबे समय से इस फैसले की वकालत कर रहे वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि रेपो रेट में कटौती एक अच्छा घटनाक्रम है। जेटली ने कहा, 'इस फैसले से आम उपभोक्ताओं के हाथ में ज़्यादा पैसा होगा और लोग ज्यादा खर्च भी करेंगे।'

अरसे से ब्याज़ दरें घटाने को लेकर वित्त मंत्रालय और आरबीआई की राय अलग थी। आरबीआई चीफ दबाव के बावजूद रेपो रेट के लिए बेहतर आर्थिक माहौल का सवाल उठाते रहे थे। जानकारों के मुताबिक इस फैसले के पीछे तीन वजहें हैं। महंगाई में गिरावट, अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल की कीमतों में कमी और राजकोषीय घाटे को कम करने की सरकार की प्रतिबद्धता।

गुरुवार को शेयर बाज़ार ने उछलकर इस फैसले का स्वागत किया है। सेंसेक्स 800 अंकों से ज़्यादा ऊपर तक गया तो निफ्टी भी 250 अंकों से ऊपर गया। उद्योग जगत ने भी इसे माहौल सुधरने का इशारा माना है। एसोचैम के सेक्रेटरी जनरल डीएस रावत ने कहा कि बैंकों को आरबीआई के फैसले को जल्दी लागू करना चाहिए। इस फैसले से होम और ऑटो लोन सेक्टर को फायदा होगा। उद्योग जगत को उम्मीद है कि आने वाले दिनों में सरकार अर्थव्यवस्था को मज़बूत करने के लिए ज़रूरी माहौल बनाने की कोशिश करेगी, जिससे रेपो रेट में और कटौती संभव हो सके।

फिलहाल सालों से ब्याज़ दर घटने का इंतज़ार कर रहे लाखों उपभोक्ताओं को उम्मीद है कि जल्दी ही इस कटौती का फायदा उन तक पहुंचने लगेगा और इस फैसले से बाज़ार में माहौल और बेहतर होगा, जिससे भविष्य में नई संभावनाएं फिर बनेंगी।
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement