कर्नाटक के बागी विधायक अब भी मुंबई में डटे, बोले- कभी नहीं छोड़ा शहर

कर्नाटक कांग्रेस के नेता एवं मंत्री डी के शिवकुमार अपनी पार्टी के असंतुष्ट विधायकों से मिलने बुधवार को मुंबई पहुंचेंगे.

कर्नाटक के बागी विधायक अब भी मुंबई में डटे, बोले- कभी नहीं छोड़ा शहर

विधायक शनिवार से मुंबई में ही ठहरे हुए हैं

खास बातें

  • पिछले 3 दिनों से मुंबई में हैं विधायक
  • अब तक 16 विधायकों ने दिया इस्तीफा
  • स्पीकर ने 8 इस्तीफे किए नामंजूर
मुंबई:

कर्नाटक विधानसभा से इस्तीफा देने के बाद तीन दिन पहले मुंबई आए एक दर्जन विधायक अब भी यहीं डेरा डाले हुए हैं. कर्नाटक कांग्रेस के विधायक बी सी पाटिल की ओर से यह पुष्टि इन अटकलों के बाद आई कि विधायकों को पश्चिमी महाराष्ट्र में सतारा के पास रोककर रखा गया है. पाटिल ने यहां संवाददाताओं को बताया कि वह और अन्य विधायक अब भी मुंबई में हैं. वहीं, घोषणा की गई कि कर्नाटक कांग्रेस के नेता एवं मंत्री डी के शिवकुमार अपनी पार्टी के असंतुष्ट विधायकों से मिलने बुधवार को मुंबई पहुंचेंगे. मंत्री के एक सहयोगी ने कहा कि मुंबई में मुलाकात की जगह के बारे में अभी पता नहीं है. 

कर्नाटक संकट को लेकर राज्यसभा में हंगामा, कांग्रेस ने पीएम मोदी और शाह को ठहराया जिम्मेदार

मंगलवार को शुरू में खबरें थीं कि विधायक सतारा के नजदीक थे और बाद में आज मुंबई लौट गए. लेकिन पाटिल ने कहा कि विधायक शनिवार से मुंबई में ही ठहरे हुए हैं.पाटिल ने कहा, ‘विधायक सोमवार की रात केवल एक होटल से दूसरे होटल गए.' उन्होंने कहा, ‘हम खुद ही चीजों का प्रबंधन कर रहे हैं. भाजपा शामिल (यात्रा और ठहरने का खर्च वहन करने में) नहीं हैं. भाजपा ने नई सरकार के गठन के लिए हमें कोई पेशकश नहीं की है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कर्नाटक संकट के बीच अब कांग्रेस को मध्य प्रदेश में भी 'शिकार की राजनीति' की आशंका

पाटिल ने कहा कि उन्होंने इसलिए इस्तीफा दिया क्योंकि उत्तर कर्नाटक क्षेत्र में कोई विकास नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि विधायक विधानसभा अध्यक्ष द्वारा मांगे गए फॉर्मेट में इस्तीफा देंगे पाटिल ने कहा, ‘अध्यक्ष से कोई आधिकारिक संदेश मिलने पर हम फैसला करेंगे कि कब बेंगलुरु जाना है.' मुंबई में 12 बागी विधायक हैं. इनमें से सात कांग्रेस के, तीन जद-एस के और दो निर्दलीय हैं. (इनपुट-भाषा)

 वीडियों: कर्नाटक में नामंजूर इस्तीफों से किसको क्या उम्मीद?