Reliance Industries ने 5,550 करोड़ के निवेश के लिए US की कंपनी KKR को बेची 1.28% हिस्सेदारी

Reliance Industries US में स्थित निवेश कंपनी KKR को अपनी 1.28 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है. केकेआर हिस्सेदारी के लिए रिलायंस रिटेल वेंचर्स में 5,550 करोड़ रुपए का निवेश कर रही है. 

Reliance Industries ने 5,550 करोड़ के निवेश के लिए US की कंपनी KKR को बेची 1.28% हिस्सेदारी

इस डील में रिलायंस रिटेल वेंचर्ल की कीमत 4.21 लाख करोड़ आंकी गई है.

नई दिल्ली:

Reliance Industries US में स्थित निवेश कंपनी KKR को अपनी 1.28 फीसदी हिस्सेदारी बेच रही है. केकेआर हिस्सेदारी के लिए रिलायंस रिटेल वेंचर्स  (Reliance Retail Ventures) में 5,550 करोड़ रुपए का निवेश कर रही है. रिलायंस इंडस्ट्रीज ने बुधवार को स्टॉक मार्केट खुलने से पहले यह जानकारी दी. इस डील में रिलायंस रिटेल का मूल्य 4.21 लाख करोड़ रुपए आंका गया है. तेल से लेकर टेलीकॉम सेक्टर तक में दखल रखने वाली कॉन्गलोमरेट रिलायंस इंडस्ट्रीज़ की पहुंच इस डील के बाद रिटेल के घरेलू बाजार में मजबूत होने की संभावना है.

रिलायंस इंडस्ट्रीज की ओर जारी एक बयान में बताया गया है कि यह केकेआर का रिलायंस इंडस्ट्रीज की किसी सहायक कंपनी में दूसरा निवेश है. इससे पहले उसने इसी साल जियो प्लेटफार्म में 11,367 करोड़ रुपए का निवेश किया था.

रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने इस बयान में कहा, 'मैं रिलायंस रिटेल वेंचर्स में केकेआर का एक निवेशक के तौर पर स्वागत करते हुए काफी खुश हूं. हम सभी भारतीयों के हितों के लिए भारतीय रिटेल इकोसिस्टम को बदलने और आगे बढ़ाने की राह पर हैं.' उन्होंने कहा कि 'हम अपनी डिजिटल सेवाओं और खुदरा कारोबार में केकेआर के वैश्विक मंच, कारोबार की जानकारी और परिचालन विशेषज्ञता के साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं.'

यह भी पढ़ें: Jio की करीब 4,000 रुपये के स्मार्टफोन लाने की योजनाः रिपोर्ट

कंपनी ने बताया कि केकेआर यह ट्रांजैक्शन अपने एशिया प्राइवेट इक्विटी फंड से करेगा. ये लेन-देन नियामक और संबंधित संस्थाओं की अनुमति के तहत होगा. डील के लिए अभी नियामक मंजूरियां ली जानी बाकी हैं. रिलायंस रिटेल वेंचर्स की सहायक इकाई रिलायंस रिटेल भारत के सबसे बड़े और तेजी से बढ़े खुदरा कारोबार का संचालन करती है और देश भर में इसके लगभग 12,000 स्टोर में 64 करोड़ लोग जाते हैं. केकेआर के सह-संस्थापक और सह-सीईओ हेनरी क्राविस ने कहा कि अधिक से अधिक भारतीयों के ऑनलाइन खरीदारी करने के साथ ही रिलायंस रिटेल का नया वाणिज्यिक मंच ग्राहकों और छोटे कारोबारियों की जरूरतों को पूरा करेगा.

बता दें कि इसके पहले अमेरिका स्थित दूसरी प्राइवेट इक्विटी फर्म Silver Lake ने भी इसी महीने रिलायंस रिटेल वेंचर्स में 7,500 करोड़ के निवेश पर कंपनी में 1.75 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है. गूगल और फेसबुक ने भी हाल में रिलायंस इंडस्ट्रीज़ के सहायक वेंचर्स के साथ डील किया था.

(भाषा से इनपुट के साथ)

Video: Jio Platforms में 7.7% हिस्सेदारी के लिए Google करेगा 33,737 करोड़ रुपए का निवेश

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com