क्या बंद हो जाएगी रिलायंस जियो 4 जी फ्री इंटरनेट और वॉयस कॉलिंग सेवा : ट्राई के फैसले पर नज़र

क्या बंद हो जाएगी रिलायंस जियो 4 जी फ्री इंटरनेट और वॉयस कॉलिंग सेवा : ट्राई के फैसले पर नज़र

रियालंस जियो 4 जी सेवा लॉन्च करने के मौके पर मुकेश अंबानी (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कंपनी ने न्यू ईयर ऑफर के तहत सुविधा को 31 मार्च तक के लिए बढ़ाया था.
  • कई अन्य ऑपरेटरों ने इसका जमकर विरोध किया.
  • नियमों के तहत प्रचार के लिए पेशकश की अवधि 90 दिन की हो सकती है.
नई दिल्ली:

मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली कंपनी रिलायंस जियो ने लॉन्चिंग के साथ फ्री इंटरनेट और वॉयल कॉलिंगकी सुविधा दी थी. बाद में कंपनी ने न्यू ईयर ऑफर के तहत इस सुविधा को 31 मार्च तक के लिए बढ़ा दिया था. मोबाइल सेवा की दुनिया में कदम रखने के साथ ही जब रियालंस जियो ने यह ऑफर दिया था तब भी कई अन्य ऑपरेटरों ने इसका जमकर विरोध किया था.

कंपनियों ने इसकी शिकायत ट्राई से लेकर टीडीसैट में की थी. अब जब कंपनी ने न्यू ईयर ऑफर दिया तब फिर कंपनियां नाराज हो गईं और फिर ट्राई के दरवाजे पहुंच गई. ट्राई ने नोटिस भेजकर रिलायंस से जवाब मांगा था. कंपनियों की इस आपसी लड़ाई का सीधा नुकसान कॉल ड्रॉप के रूप में ग्राहकों को हो रहा है.

रिलायंस  ने भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) से कहा है कि उसकी नई वॉयस और डेटा पेशकश मौजूदा नियमनों का उल्लंघन नहीं करती हैं.

इन नियमनों के तहत प्रचार के लिए किसी तरह की पेशकश की अवधि 90 दिन की अवधि के लिए हो सकती है. ट्राई ने कंपनी से अपनी मुफ्त कॉल और डाटा पेशकश को बढ़ाकर 31 मार्च, 2017 तक करने के लिए स्पष्टीकरण मांगा था. प्रचार के लिए पेशकश की 90 दिन की अवधि 4 दिसंबर को समाप्त हो गई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

जियो ने ट्राई को अपनी हैप्पी न्यू ईयर पेशकश के बारे में विस्तार से नोट भेजा है. इसमें बताया गया है कि उसकी यह पेशकश शुरुआती पेशकश से कैसे भिन्न है और यह बाजार बिगाड़ने वाली नहीं है.

ट्राई ने 20 दिसंबर को जियो को पत्र भेजकर पूछा था कि क्यों न उसकी हैप्पी न्यू ईयर पेशकश को नियामकीय दिशानिर्देशों का उल्लंघन माना जाए.
(इनपुट एजेंसियों से भी)